नोएडा, ग्रेटर नोएडा के इन प्रॉजेक्ट में पैसा लगाएंगे तो आप हो जाएंगे बर्बाद




नई दिल्ली: अथॉरिटी ने निवेशकों को नोएडा और ग्रेटर नोएडा के 7 प्रॉजेक्ट में निवेश न करने की सलाह दी है। इसकी वजह ये है कि इन बिल्डरों ने ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी से अबतक नक्शा अप्रूव नहीं करवाया है। साथ ही ये बिल्डर अथॉरिटी के डिफॉल्टर भी हैं। अथॉरिटी ने इन बिल्डर प्रॉजेक्ट के लिए अलॉट जमीन कैंसल करने का नोटिस भेजा है।

अधिकारियों के मुताबिक नोएडा और ग्रेटर नोएडा मे 7 प्रॉजेक्ट ऐसे हैं जहां अलॉटमेंट के सालों बाद भी न तो बिल्डिंग का नक्शा अप्रूव कराया गया है और न ही बिल्डर ने अथॉरिटी की किस्त समय पर जमा की है। अथॉरिटी के सीईओ दीपक अग्रवाल का कहना है कि ऐसे सभी बिल्डरों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया है।

इस नोटिस के बाद अब बिल्डर को 15 दिनों के भीतर अथॉरिटी की किस्त जमा कराने के साथ ही इसका भी जवाब देना होगा कि इसने नक्शा पास कराकर प्रॉजेक्ट पर काम शुरु क्यों नहीं किया।

जिन 7 प्रॉजेक्ट पर अथॉरिटी की तलवार लटक रही है वो इस प्रकार हैं

  1. अल्पाइन इंफ्रा प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड, प्लॉट नंबर – जीएच-16डी, सेक्टर -1
  2. एआईएमएस गॉल्फ टाउन डिवेलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, प्लॉट नंबर-1 जीएच-4, सेक्टर-4
  3. वर्धमान रियलटेक प्राइवेट लिमिटेड, प्लॉट नंबर-जीएच 01, सेक्टर ईटा-1
  4. गायत्री हॉस्पिटेलिटी एंड रियलकोन प्राइवेट लिमिटेड, प्लॉट नंबर-जीएच11ए, सेक्टर-1
  5. हाई-कास्टल रियलटेक लिमिटेड, प्लॉट नंबर-29, सेक्टर बीटा-2
  6. गायत्री हॉस्पिटेलिटी एंड रियलकोन प्राइवेट लिमिटेड, प्लॉट नंबर-जीएच-11बी, सेक्टर-1
  7. एसोटेक इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड, प्लॉट नंबर -1, सेक्टर-पाई
Loading...