डाइट के साथ साथ बेहतर सेक्स से खिलाड़ी जीतते हैं ओलंपिक में मेडल!

दिल्ली: दिल्ली से बीजेपी सांसद उदित राज ने ये जानकारी दी कि उसेन बोल्ट ने ओलंपिक में 9 गोल्ड मेडल इसलिए जीते क्योंकि वो बीफ खाते थे। लेकिन जीत की ये कहानी यहीं पर खत्म नहीं हो जाती है। क्योंकि ओलंपिक जैसे खेलों में विजेता बनने के लिए बेहतर डाइट के साथ साथ कड़ी मेहनत, निरंतर प्रैक्टिस, लगन भी शामिल होती है।

लेकिन इसमें अब एक और चीज भी जुड़ गई है। वो है सेक्स। आप हैरान हो रहे होंगे लेकिन एक रिसर्च से ये बात सामने आई है। जिसमें ये बात निकलकर सामने आई कि खिलाड़ियों के मेडल और सेक्स के बीच काफी गहरा संबंध है। रिसर्च के मुताबिक ऑर्गेज्म से फीमेल एथलीटों की मांसपेशियों का दर्द कम हो जाती है। जबकि सेक्स के दौरान निकलनेवाले टेस्टोटेरोन हार्मोन से पुरुषों को मजबूती मिलती है।

बास्केटबॉल खिलाड़ी विल्ट चैंबरलिन ने अपनी आत्मकथा में खुलासा किया था कि वो 20 हजार महिलाओं के साथ सेक्स कर चुके हैं। उसेन बोल्ट की ही बात कर लीजिये। जो रियो में तीन लड़कियों के साथ देखे गए। यही नहीं लंदन ओलंपिक में भी बोल्ट लड़कियों के साथ मस्ती करते हुए देखे गए थे। रियो में तो बोल्ट की तस्वीर 20 साल की लड़की के साथ सेक्स करते हुए वायरल हो गई थी।

एक टीवी चैनल ने महिला फुटबॉल गोलकीपर होप सोलो के हवाले से खबर दी थी कि ओलंपिक खेलों के दौरान खिलाड़ खूब सेक्स करते हैं। ओलंपिक में 12 मेडल जीत चुके अमेरिकी तैराक रेयान लोशे का कहना है कि 70-75 फीसदी ओलंपिक खिलाड़ी सेक्स करते हैं। गोल्फर टाइगर वुड्स ने एक वक्त में 13 महिलाओं से संबंध थे ओलंपिक खेलों में किस तरह से खिलाड़ी जमकर सेक्स करते हैं इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि रियो ओलंपिक में आयोजकों ने 4 लाख 20 हजार कंडोम मुहैया कराए थे।

Loading...