पार्टनर के साथ सेक्स को मजेदार बनाने के लिए लोकप्रिय हो रहा है BDSM




नई दिल्ली: इस दुनिया में हर इंसान अपनी सेक्स लाइफ को मजेदार बनाना चाहता है। कोशिश ये भी की जाती है कि पार्टनर के साथ जब वो फोरप्ले के लिए तैयार हों तो उसमें कुछ नयापन हो। इसके लिए वो तरीके अपनाए जाते हैं जिससे कि सेक्स का भरपूर आनंद दोनों उठा सकें और दोनों को इससे संतुष्टि मिले। और सेक्स किसी एक साथी की संतुष्टि बनकर न रह जाए।

निजी पलों की इसी चाहत तो पूरा करने के लिए इनदिनों लोगों का झुकाव BDSM की तरफ हो रहा है। BDSM का मतलब है बॉन्डेज, डोमिनेंस, सैडिज्म और मैसकिज्म। ये वो चार तरीके हैं जिन्हें अपने निजी पलों को यादगार बनाने के लिए लोग अपनाते हैं। लेकिन इसे कैसे अपनी निजी पलों में शामिल करना है इसके लिए कई जगहों पर जानकारी दी जाती है। जिसके वर्कशॉप में शामिल होकर लोग BDSM के बारे में जानकारी लेते हैं।

एक ऑन लाइन पोर्टल में छपी खबर के मुताबिक ऐसा ही एक प्लेटफॉर्म है बंगलौर का ‘किंक कम्यूनिटी।’ किंक कम्यूनिटी में कामोत्तेजक गतिविधियों से जुड़ी जानकारी दी जाती है। इसके लिए महीने का वो दिन चुना जाता है जब सार्वजनिक छुट्टी हो। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग वर्कशॉप में शामिल हो सकें।

बेंगलुरु में BDSM सोसायटी के काफी लोग हैं। कई लोग BDSM के बारे में जानकारी देने वाले किंक कम्यूनिटी के साथ संपर्क में भी रहते हैं। किंक में अपने पार्टनर की सेक्स इच्छा को बढ़ाने और उसे सेक्स के लिए तैयार करने के लिए कामुक पावर प्ले का सहारा लिया जाता है। पार्टनर की सेक्स कल्पनाओं को पूरा करने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाने वाले शख्स को किंकस्टर कहा जाता है। किंकस्टर की भूमिका में महिला या पुरुष में से कोई भी हो सकता है। वर्कशॉप में इसे लेकर डेमो भी दिया जाता है।

इस तरह की कई फिल्में भी सामने आ चुकी हैं जिसमें पार्टनर को कोड़े से पीटा जाता है, उसकी आंखों पर पट्टी बांध दी जाती है, कई बार उसके हाथ बांध दिये जाते हैं तो कई बार पार्टनर के सामने कम कपड़ों में कामुकता का प्रदर्शन किया जाता है। दरअसल ये सबकुछ निजी पलों को मजेदार बनाने के लिए किया जाता है और ये सबकुछ BDSM का ही हिस्सा है।

वर्कशॉप के दौरान इन्हीं चीजों के बारे में जानकारी दी जाती है। उसमें बताया जाता है कि चाबुक का इस्तेमाल किस तरह से करना है कि। कहीं ऐसा न हो कि उससे पार्टनर को नुकसान पहुंचे। खासबात ये है कि इस तरह के वर्कशॉप में लोग पैसे देकर पहले रजिस्ट्रेशन कराते हैं उसके बाद इसमें शामिल होते हैं।

Loading...

Leave a Reply