भीड़ कम करने का नायाब तरीका, नोट बदलने के बाद उंगली में लगाई जाएगी स्याही

नई दिल्ली: सरकार ने नोट बदलने के लिए 30 दिसंबर तक का वक्त दिया है। साथ ही नोट बदलने की सीमा भी अब 4000 से बढ़ाकर 4500 कर दी गई है। लेकिन ऐसी शिकायत सामने आ रही थी कि कई जगह पर एक ही व्यक्ति बार बार लाइन में लग रहा था। जिसकी वजह से बैंकों में भीड़ भी बढ़ती है और दूसरों को मौका नहीं मिलता है।

इससे निपटने के लिए सरकार ने अब लोगों की उंगली पर स्याही लगाने का फैसला लिया है। वित्त सचिव शक्तिकांत दास ने बताया कि जब लोग नोट बदलेंगे तो उसी वक्त उनकी उंगली पर स्याही लगाई जाएगी। ये वही स्याही होगी जो वोट डालने के बाद उंगली पर लगाई जाती है। इस स्याही की खासियत ये है कि ये काफी वक्त तक छूटती नहीं है।




सरकार के इस कदम से जहां एक तरफ बैंकों में लगनेवाली भीड़ में कमी आएगी वहीं एक ही व्यक्ति बार बार लाइन में नहीं लगेगा। उन्होंने कहा कि कई जगहों से ऐसी शिकायत मिल रही है कि लोग अपने बच्चों को लाइन में खड़ा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बैंक में कैश की कमी नहीं है और लोग घबराएं नहीं।

इसके अलावे वित्त सचिव शक्तिकांत दास ने कहा कि धार्मिक संस्थाओं और ट्रस्टों से छोटे नोट बैंक में जमा कराने की अपील की गई है। इससे बाजार में छोटी करेंसी की कमी नहीं होगी और लोगों को नकदी मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि कोई भी धार्मिक संस्थान छोटी करंसी बैंक में जमा करवाकर बड़े नोट ले सकता है।

Loading...

Leave a Reply