राम जन्मभूमि में खुदाई में मिली प्राचीन मूर्तियां, शिवलिंग और कलश

अयोध्या/उत्तर प्रदेश:  राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद वहां निर्माण कार्य की तैयारी शुरु की गई थी। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लॉकडाउन के बाद राम जन्मभूमि पर भी निर्माण कार्य को रोक दिया गया था। लेकिन अब दोबारा से प्रशासन की अनुमति मिलने के बाद वहां पर निर्माण कार्य शुरु किया गया है। फिलहाल वहां पर जमीन को समतल करने और मलबा हटाने का काम चल रहा है।

इसी दौरान राम जन्मभूमि से कई प्राचीन मूर्तियां और भवन के अवशेष मिले है। इनमें शिवलिंग, कमल, पुष्प समेत कई पौराणिक सामान मिले। जिसके बाद अदालती लड़ाई के दौरान रहे इनके पक्षकारों की तरफ से भी बयान आने शुरु हो चुके हैं।

राम जन्मभूमि पर राम मंदिर निर्माण का कार्य केंद्र सरकार की तरफ से बनाए गए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से करवाया जा रहा है। परिसर में मिले अवशेषों के बाद ट्रस्ट का बयान भी सामने आया है।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ कहा गया कि श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र  द्वारा दिनांक 11 मई 2020 से श्रीरामजन्मभूम परिसर में जमीन को समतल करने और मलबा हटाने का काम शुरु किया गया है। ये काम अयोध्या प्रशासन की तरफ से मिली अनुमति के बाद शुरु किया गया। जिसमें प्रशासन की तरफ से जारी सभी तरह के दिशा निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महामंत्री चंपत राय ने अपने बयान में कहा खुदाई के दौरान पुरातात्विक महत्व की कई वस्तुएं मिली हैं। जैसे कमल, पुष्प, आमलक इत्यादि। खुदाई के दौरान भारी संख्या में देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियों के अतिरिक्त 7 ब्लैक टच स्टोन स्तंभ, 6 रेड सैंडस्टोन के स्तंभ के साथ साथ 5 फीट का शिवलिंग भी मिला है।

हिंदु महासभा के वकील विष्णु जैन ने कहा सुप्रीम कोर्ट में बहस के दौरान हमपर मुस्लिम पक्ष ने हिंदु तालिबान होने का आरोप लगाते हुए कहा था वहां पर मंदिर होने का कोई प्रमाण नहीं है। लेकिन अब पुरातात्विक मूर्तियां मिलना ही उनके आरोपों का जवाब है। सुप्रीम कोर्ट में बहस के दौरान भी हम यही कहते चले आ रहे थे।

इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी का कहना है कि इसपर अब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है इसलिए अब इसपर कुछ बयान नहीं देना चाहते हमारी ओर से केस खत्म हो गया है। मूर्तियों के मिलने पर उन्होंने कहा कि वहां पर जो भी मिला है उसका सम्मान होना चाहिए।

(Visited 32 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *