SUPREME COURT

दो मिनट में जानिये तीन तलाक पर SC के फैसले का मतलब, 4 बातें

दो मिनट में जानिये तीन तलाक पर SC के फैसले का मतलब, 4 बातें

नई दिल्ली:  सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को असंवैधानिक बताया है। जिसके बाद अब तीन तलाक को खत्म कर दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच में पांच जज मौजूद थे। जिनमें से 3 जजों ने ती तलाक को संवैधानिक बताया जबकि दो जजों की अलग राय थी। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाने के लिए 6 महीने का वक्त दिया है। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ जाने के बाद अब कोई भी मुस्लिम अपनी पत्नी को तीन बार तलाक कहकर तलाक नहीं दे सकता है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले की बड़ी बातें इस प्रकार से हैं

  1. मुस्लिम महिलाओं के लिए सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला उनकी जिंदगी बदलने वाला है। सुप्रीम कोर्ट की संवैधानि पीठ की पांच जजों की बेंच ने बहुमत से तीन तलाक को असंवैधानिक माना है।
  2. कोर्ट के इस फैसले के बाद अब तीन तलाक की कुप्रथा पूरी तरह से निरस्त हो गया है। अब कोई भी पति तीन बार तलाक बोलकर अपनी पत्नी को तलाक नहीं दे सकेगा।
  3. अगर सरकार 6 महीने में कानून नहीं बना पाती है तो सुप्रीम कोर्ट का फैसला उसके बाद भी जारी रहेगा। यानि जबतक कानून नहीं बन जात है तबतक तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश जारी रहेगा।

सुप्रीम कोर्ट ने राजनीतिक दलों से भी कहा है कि वो अपने राजनीतिक गतिरोध को दरकिनार कर केंद्र सरकार के तीन तलाक पर कानून बनाने में मदद करें।

Loading...

Leave a Reply