वाजपेयी ने मोदी को बताया था राजधर्म, तब के सीएम मोदी ने दिया था ये जवाब, Video

वाजपेयी ने मोदी को बताया था राजधर्म, तब के सीएम मोदी ने दिया था ये जवाब, Video

नई दिल्ली:  पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी इरादों के भी अटल थे। उनकी नजर में गलत हमेशा गलत होता था और गलती पर अपनों को भी फटकार लगाने में नहीं चूकते थे। यही वजह थी कि विरोधी भी उनके कायल हो चुके थे। आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने तो एकबार यहां तक कह दिया था कि गलत पार्टी में रहनेवाले सही व्यक्तित्व थे अटल जी। अटल जी की अगुवाई में ही पहली गैर कांग्रेसी सरकार ने पांच साल का कार्यकाल पूरा किया था।

गुजरात दंगे का जब भी जिक्र होता है को अटल जी के राजधर्म की चर्चा भी होती है। अटल जी ने ये राजधर्म का संदेश गुजरात के तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी को दिया था। ये वो वक्त था जब गुजरात में हुई हिंसा के बाद हर तरफ से मोदी के इस्तीफे की मांग उठ रही थी। इसी अटल जी ने गुजरात दौरा किया था।

जब अटल जी पत्रकारों से बात कर रहे थे तब उनसे सवाल किया गया आपने अपने इस दौरे में अधिकारियों को संदेश दिये हैं। क्या मुख्यमंत्री के लिए भी आपका कोई संदेश है। इस सवाल के जवाब में अटल बिहारी वाजपेयी बोले मैं इतना ही कहूंगा वा राजधर्म का पालन करें। ये शब्द काफी सार्थक है। मैं उसी का पालन कर रहा हूं। पालन करने का प्रयास कर रहा हूं। राजा के लिए शाशक के लिए प्रजा-प्रजा में भेद नहीं हो सकता। न जन्म के आधार पर न जाति के आधार पर न संप्रदाय के आधार पर। जब वाजपेयी जी मोदी को राजधर्म का संदेश दे रहे थे तब उनके बगल में तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी भी बैठे थे। बीच में ही नरेंद्र मोदी ने कहा हम भी वही कर रहे हैं साहब। इसके बाद वाजपेयी जी ने आगे कहा मुझे विश्वास है कि नरेंद्र भाई यही कर रहे हैं।

Loading...