yogi-gomti-riverfront

सीएम योगी ने अफसर पर कर दी है पहली बड़ी कार्रवाई, अब खुलेंगे गड़बड़ी के कई राज

सीएम योगी ने अफसर पर कर दी है पहली बड़ी कार्रवाई, अब खुलेंगे गड़बड़ी के कई राज

लखनऊ: अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट गोमती रिवर फ्रंट के सहायक इंजीनियर अनिल यादव को सस्पेंड कर दिया गया है। कुछ दिनों पहले सीएम योगी खुद गोमती रिवर फ्रंट का जायजा लेने पहुंचे थे। जिसके बाद उन्होंने पूरे प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी मांगी थी। अधिकारियों से पूछा था कि अबतक कितना खर्च हुआ और काम कितना बाकी बचा है।

पहली नजर में सीएम को ये अंदाजा लग चुका था कि गोमती रिवर फ्रंट तैयार करने में बड़े पैमाने पर धांधली हुई है। जिसके बाद उन्होंने इसके जांच के आदेश दिये थे। उसी मामले में असिस्टेंट इंजीनियर अनिल यादव को सस्पेंड किया गया है। सीएम योगी ने 45 दिनों में गोमती रिवर फ्रंट में हुई गड़बड़ी की जांच रिपोर्ट मांगी थी।

ये भी पढें :

– उम्र पर मत जाइये, इस लड़की के भजन को 68 लाख लोग सुन चुके हैं
– जासूसी के लिए नहीं, पाकिस्तान ने इस वजह से कुलभूषण को सुनाई फांसी

गोमती रिवर फ्रंट पूर्व सीएम अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट था। इसमें गोमती नदी के किनारे सौदर्यीकरण का काम किया जा रहा है। लखनऊ में कुड़िया घाट से लेकर लामार्टिनियर स्कूल तक 12.1 किलोमीटर तक रिवरफ्रंट बना है। इसे तैयार करने में तीन हजार करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैं। इस पूरे प्रोजेक्ट को 2017 में पूरा होना था लेकिन ये फिलहाल काफी पीछे चल रहा है।

गोमती रिवर फ्रंट के तहत नदी के किनारे जॉगिंग पार्क, चिल्ड्रेन पार्क, म्यूजिकल फाउंटेन, साइकिल ट्रैक, फ्लावर शो, ओपन एयर थियेटर समेत यहां देश का सबसे ऊंचा फाउंटेन भी लगाया जाना है।

पिछले दिनों जब सीएम योगी गोमती रिवर फ्रंट का जायजा लेने गए थे तो उन्होंने इसमें गिरने वाले नालों को देखकर काफी नाराजगी जताई थी। उन्होंने तुरंत सभी नालों को बंद करने के आदेश दिये थे।

Loading...

Leave a Reply