कांग्रेस से हरियाणा में गठबंधन की भीख मांग रहे हैं केजरीवाल, कुमार विश्वास का जवाब पढ़िये

नई दिल्ली:  सियासत की मजबूरी क्या होती है ये कोई दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से पूछे। ये वही केजरीवाल हैं जो कभी कांग्रेस को बेइमान पार्टी होने का सर्टिफिकेट बांट रहे थे। इसी कांग्रेस के इमारत की खंडहर पर केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी की नींव रखी थी और दिल्ली में सत्तासीन हुए थे।

लेकिन आज उसी कांग्रेस की चौखट पर नतमस्तक हैं केजरीवाल। केवल अपने स्तित्व को बचाने के लिए। पहले दिल्ली में कांग्रेस से गठबंधन के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाया लेकिन जब नाकामी मिली तो उसी कांग्रेस कोसने लगे। लेकिन अब एक बार फिर उसी कांग्रेस की चौखट पर हरियाणा को लेकर हाथ फैलाए खड़े हैं।


केजरीवाल ने ट्वीट किया देश के लोग अमित शाह और मोदी की जोड़ी को हराना चाहते हैं। अगर हरियाणा में जेजेपी, आप और कांग्रेस साथ लड़ते हैं तो हरियाणा की दसों सीटों पर बीजेपी हारेगी। राहुल गांधी जी इसपर विचार करें।

केजरीवाल बांह पसार कर कांग्रेस की चौखट पर नतमस्तक हैं हरियाणा में गठबंधन के लिए। लेकिन कांग्रेस की तरफ से इसपर फिलहाल कुछ भी नहीं कहा गया है। लेकिन एक वक्त में केजरीवाल के परम मित्र और आम आदमी पार्टी के मजबूत स्तंभ रहे कविराज कुमार विश्वास ने काफी कुछ कह दिया अपने इस पूर्व सखा के वास्ते।


कुमार विश्वास ने ट्वीट किया दो दिन पहले आत्ममुग्ध बौना पूर्ण राज्य जैसे अप्रासंगिक विषय पर राहुल गांधी को कोस रहा था। कांग्रेस के दफ्तर पर मां-बहन करवा रहा था। आज हरियाणा के लिए फिर उसी द्वार पर लालायित है। बौने के ट्वीटर लिलिपुट-चिंटुओं, इस कायर मनोरोगी की सत्तालिप्सा के लिए क्यों रोज गालियां खाते हो?

(Visited 14 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *