आरुषी मर्डर केस में कोर्ट के इन सवालों का जवाब नहीं दे पाई CBI

आरुषी मर्डर केस में कोर्ट के इन सवालों का जवाब नहीं दे पाई CBI

नई दिल्ली:  2013 में जब सीबीआई अदालत से तलवार दंपत्ति को अरुषी की हत्या का दोषी ठहराया गया तो सीबीआई के जांच अधिकारी भी खुश हुए थे। लेकिन गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जब तलवार दंपत्ति को इस गुनाह से बरी किया और सीबीआई के जांच करने के तरीकों पर सवाल उठाए तो विश्वसनीय जांच एजेंसी मानी जानेवाली सीबीआई की विश्वसनीयता पर सवाल उठने लगे। आरुषी केस में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सबूतों पर जब सीबीआई से सवाल किये तो उसके पास जवाब तक नहीं था। सीबीआई से सवाल किया गया कि

आरुषी की कत्ल का मकसद क्या था?

क्या आरुषी और हेमराज का कत्ल एक ही कमरे में हुआ ?

दोनों का कत्ल करने के लिए किस हथियार का इस्तेमाल किया गया ?

हेमराज की लाश चादर में लपेट कर घसीटकर छत तक ले जाई गई ?

कमरे में कत्ल हुआ तो आरुषी के कमरे में खून के निशान क्यों नहीं मिले ?

अगर कत्ल के बाद कमरे और चादर को साफ किया गया तो गद्दे पर खून के निशान क्यों नहीं मिले ?

क्या आरुषी के कमरे में गोल्फ स्टिक को घुमाने की जगह थी ?

गोल्फ स्टिक से इतना गहरा घाव हो सकता है ?

हेमराज के कमरे में शराब की बोतल और तीन ग्लास का क्या मतलब है ?

जिस कूलर के पैनल से हेमराज की लाश ढकी गई थी वो पैनल कहां है ?

Loading...

Leave a Reply