Former-chief-minister-Kalikho-Pul

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व CM कलिखो पुल का शव पंखे से लटका मिला, सुसाइड का शक

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व CM कलिखो पुल का शव पंखे से लटका मिला, सुसाइड का शक

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व सीएम कलिखो पुल का शव मंगलवार को उनके घर में पंखे से लटका मिला। कलिखो की उम्र महज 47 साल की थी। 19 फरवरी को उन्होंने बीजेपी के सहयोग से अरुणाचल प्रदेश में अपनी सरकार बनाई थी। और कलिखो अरुणाचल प्रदेश के सीएम बने थे। लेकिन 6 महीने बाद सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 13 जुलाई को उनकी सरकार हटा दी गई। और वहां दोबारा कांग्रेस की सरकार बहाल हुई।

उसके बाद से ही कलिखो डिप्रेशन में थे। उन्होंने दूसरों से बात करना छोड़ दिया था। माना जा रहा है उसी डिप्रशन की वजह उन्होंने अपनी जिंदगी खत्म करने का फैसला लिया। हलांकी अभी ये साफ नहीं हो पाया है कि उन्होंने खुदकुशी ही की है। कलिखो पुल सीएम बंगले में ही अपने पांच बच्चों और पत्नी के साथ रहते थे। जिस कमरे में उनका शव मिला उसके दूसरे कमरे में उनकी पत्नी भी मौजूद थी।

कलिखो 1995 के बाद से लगातार पांच बार विधायक चुने गए थे। अंजॉ जिले के हवाई से आने वाले कलिखो सीएम गेगांग अपांग के कार्यकाल (2003-2007) में वित्त मंत्री भी रहे थे। कलिखो मिश्मी समुदाय से ताल्लुक रखते थे। 1995 से 1997 तक वो वित्त उपमंत्री रहे। उसके बाद 1997-1999 तक बिजली राज्य मंत्री रहे। फिर 1999-2002 तक वित्त राज्य मंत्री और 2002 से 2003 तक भूमि प्रबंधन के राज्य मंत्री रहे। 2003-2005 तक कलिखो पुल ने वित्त मंत्रालय संभाला।

कलिखो जब 13 साल के थे तब उनकी मां चल बसी थीं। उनकी उम्र जब 5 साल की हुई तो उनके पिता ने दुनिया को अलविदा कह दिया। उसके बाद से कलिखो अपने बलबूते पर ही जिंदगी का सफर तय किया। कलिखो पुल का जीवन संघर्षों से भरा था। पहले वो एक कारपेंटर थे फिर उन्होंने कुछ वक्त तक चौकीदारी की। किसी तरह से पैसे जोड़कर उन्होंने ट्रक खरीदा। फिर वो राजनीति में आए और फिर अरुणाचल प्रदेश के सीएम बने।

Loading...

Leave a Reply