चालबाज चीन को जेटली का सख्त जवाब ‘1962 और आज के हालात में फर्क है’

नई दिल्ली:  सिक्किम में अपनी मनमानी कर पर उतारू चीन को रक्षा मंत्री अरूण जेटली ने करारा जवाब दिया है। एक निजी चैनल के कार्यक्रम में रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने कहा 1962 में हालात अलग थे और आज हालात अलग हैं। जेटली ने कहा भूटान ने बयान दिया है कि जहां चीन सड़क का निर्माण कर रहा है वह जमीन भूटान की है और भारत और भूटान के बीच सुरक्षा संबंध है। इसलिए हमारी सेना वहां पर है।

कुछ दिनों पहले चीन ने कहा था कि भारत 1962 के अंजाम को याद रखे। चीन की इस धमकी पर अरुम जेटली ने कहा 1962 के हालात अलग थे और आज के हालात अलग हैं। हमें इस बात को समझना होगा। दरअसल भूटान ने शुक्रवार को ही अपने सीमाक्षेत्र में सड़क निर्माण कर दोनों देशों के बीच समझौते का सीमा उल्लंघन करने का आरोप लगाया।

भूटान ने बड़ा बयान देते हुए कहा चीन से जोम्पेलरी स्थित भूटानी सेना के शिविर की तरफ डोकलाम इलाके में डोकोला से वाहनों की आवाजाही के योग्य सड़क का निर्माण रोकने को भी कहा है। भूटान का कहना है कि इससे दोनों देशों के बीच सीमा तय करने की प्रक्रिया प्रभावित होती है। भूटान की इस टिप्पणी के बाद सिक्किम सेक्टर में डोकलाम इलाके में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच तनातनी  जारी है।

पिछले दिनों सिक्किम सेक्टर में चीनी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों के दो बंकरों को तोड़ दिया था। दोनों देशों के सैनिकों के साथ वहां धक्का मुक्की भी हुई थी। इसके बाद सेना प्रमुख ने भी सिक्किम का दौरा किया था।

Loading...

Leave a Reply