मेजर वाइफ मर्डर: शैलजा से जबरन शादी करना चाहता था आरोपी मेजर निखिल हांडा

नई दिल्ली: दिल्ली के कैंट मेट्रो स्टेशन के पास मिली मेजर की पत्नी की लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। इस मामले के मुख्य आरोपी एक और मेजर निखिल हांडा है जो शैलजा से जबरन शादी करना चाहता था। लेकिन जब शैलजा ने शादी से इनकार कर दिया तो मेजर निखिल ने अपने कार में चाकू से गला रेतकर शैलजा की हत्या कर दी।

निखिल हांडा को आज मेरठ से दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया। पुलिस ने मर्डर के इस केस को 24 घंटे में ही सुलझा लिया। पुलिस पूछताछ में आरोपी मेजर ने शैलजा के साथ प्रेम प्रसंग की बात स्वीकार की है। पुलिस के मुताबिक आरोपी मेजर निखिल हांडा मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा से प्रेम करता था और उससे शादी करना चाहता था। लेकिन जब शैलजा ने शादी से इनकार किया तो उसने उसकी हत्या कर दी।

मेजर निखिल और मेजर अमित द्विवेदी के परिवार के बीच करीबी तब बढ़ी जब दोनों की पोस्टिंग दीमापुर में थी। इस बीच मेजर निखिल का झुकाव शैलजा की तरफ हो गया। घटना वाले दिन यानि शनिवार को भी निखिल ने शैलजा को फोन किया था और मिलने के लिए बुलाया था। मेजर अमित द्विवेदी को भी शैलजा और निखिल के रिश्तों के बारे में जानकारी थी।

पुलिस ने जब शैलजा के मोबाइल डिटेल की जांच की तो पता चला कि आरोपी ने उसे काफी कॉल किये थे। जिसके बाद पुलिस का शक मेजर निखिल पर गहराया। पुलिस ने जब मेजर निखिल से बात की तो ये संदेह हुआ कि वो भागने की फिराक में है। जिसके बाद पुलिस का उसपर शक पक्का हो गया। इस बीच घटना वाले दिन दिल्ली के आर्मी बेस अस्पताल के सीसीटीवी फुटेज में भी निखिल और शैलजा एक साथ दिखे थे।

पुलिस के मुताबिक मेजर निखिल ने अपने बेटे को दिल्ली के कैंटोनमेंट में बने आर्मी बेस हॉस्पिटल में इसलिए भर्ती करवाया था ताकि वो इस बहाने शैलजा से मिल सके। वो खुद अपने माइग्रेन का इलाज भी इसी हॉस्पिटल में करवा रहा था।

इधर शैलजा के पति मेजर अमित कुछ दिनों की ट्रेनिंग के लिए दिल्ली आए हुए थे और जल्द ही वो यूएन मिशन पर सूडान जाने वाले थे। जब निखिल को मेजर अमित के सूडान जाने की खबर पता लगी तो वो भी दिल्ली चले आए। दिल्ली के कैंटोनमेंट इलाके में आर्मी बेस हॉस्पिटल में मेजर निखिल के बेटे का इलाज चल रहा था।

वारदात वाले दिन सुबह 10 बजे शैलजा बेस अस्पताल में अपना फिजियोथेरेपी करवाने आए थी। जहां उसकी मुलाकात निखिल से हो गई। इसके बाद मेजर निखिल उसे अपनी कार में ले गए। कार में ही दोनों का झगड़ा हुआ। शादी से शैलजा पहले ही इनकार कर चुकी थी। इसी गुस्से में मेजर ने चाकू से शैलजा का गला रेत दिया। और उसे कैंट मेट्रो स्टेशन के पास धक्का देकर बाहर फेंक दिया। उसके बाद अपनी कार उसके ऊपर चढ़ाकर पार कर फरार हो गए।

इस हत्या के बाद मेजर निखिल लगातार फरार होने की कोशिश करते रहे। लेकिन पुलिस ने उनकी होंडा सिटी कार पर लगातार नजर बनाए रखी। आखिरकार मेजर निखिल मेरठ कैंटोनमेंट पहुंच गए। इस बीच उन्होंने अपना फोन स्विच ऑफ कर लिया था। लेकिन एक दो लोगों को उन्होंने व्हाट्सएप कॉलिंग के जरिये फोन किया था। जिसे पुलिस ने ट्रैक कर लिया। दिल्ली से मेरठ के रास्ते में आनेवाले टोल बूथ पर लगे सीसीटीवी फुटेज में भी उनकी कार नजर आई थी। जिसके बाद आखिरकार पुलिस ने शैलजा की हत्या के आरोपी मेजर निखिल हांडा को मेरठ से गिरफ्तार कर लिया।

(Visited 16 times, 1 visits today)
loading...