EVM की जगह बैलेट से वोटिंग की मांग करनेवाले केजरीवाल को अन्ना ने कहा ‘ये सही नहीं’




नई दिल्ली: पांच राज्यों के चुनाव नतीजों के बाद पार्टियों की हार जीत की चर्चा पीछे छूट गई। उसकी जगह एक नई बहस ने ले ली। जिसमें सवाल EVM से होनेवाले वोटिंग की सत्यता और प्रमाणिकता पर उठाए जा रहे हैं। आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब में EVM में गड़बड़ी की बात कर रहे हैं तो बीएसपी सुप्रीमो मायावती यूपी में EVM में गड़बड़ी की शिकायत कर रही हैं।

इस राजनीतिक बहस के बीच रालेगण सिद्दी से अन्ना हजारे ने अपनी बात कही है। अन्ना ने साफतौर पर कहा है कि EVM की जगह बैलेट पेपर से वोटिंग कराना समय से पीछे हटने जैसा होगा। अन्ना ने कहा विज्ञान और तकनीक इतनी तरक्की कर रही है। दुनिया प्रगति पथ पर है और हम बैलेट पेपर की बात कर पीछे लौट रहे हैं। बैलेट पर जब चुनाव होता है तो पहले वोटर के साइन, अंगूठे लगवाने में काफी समय लगता है। फिर वोटर जब वोटिंग करने को जाता है तो उसे फोल्ड कर बॉक्स में डालना होता है। इसके बाद गिनती में भी काफी वक्त चला जाता है। EVM में इतना वक्त नहीं जाता है। वोट करते समय भी वक्त नहीं लगता।

यानि अन्ना ने केजरीवाल और मायावती की तरफ से EVM की प्रमाणिकता पर उठाए जा रहे सवालों को खारिज कर दिया। लेकिन EVM को लेकर अन्ना ने एक संदेह जरुर व्यक्त किया। उन्होंने कहा EVM से काउंटिंग के बाद ये स्पष्ट तौर पर पता चल जाता है कि किस इलाके में किसको कितने वोट मिले हैं। अन्ना इसमें बदलाव की मांग कर रहे थे।

उन्होंने कहा EVM मशीन में बदलाव कर टोटलाइजर मशीन का इस्तेमाल होना चाहिए। टोटलाइजर मशीनों में सारे वोट मिक्स हो जाएंगे और किस इलाके में किसे कितने वोट मिले इसके बारे में पता भी नहीं चलेगा। उन्होंने कहा इससे गोपनीयता कायम रखना और आसान हो जाएगा।

Loading...