RS में अमित शाह का डेब्यू भाषण बोले ‘बेरोजगारी से अच्छा है पकौड़े बेचना…’

RS में अमित शाह का डेब्यू भाषण बोले ‘बेरोजगारी से अच्छा है पकौड़े बेचना…’

नई दिल्ली:  राज्यसभा में आज बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का बतौर राज्यसभा सांसद डेब्यू भाषण हुआ। अपने इस भाषण में अमित शाह ने जहां राष्ट्रपति के अभिभाषण को अलग नजरिये से देखने की जरुरत पर जोर दिया वहीं उन्होंने पिछले दिनों पकौड़ा पॉलिटिक्स और जीएसटी पर कांग्रेसी जुमला गब्बर सिंह टैक्स पर भी अपनी बात रखी। जिसमें उन्होंने विपक्ष पर तीखा हमला किया।

विपक्ष की तरफ से पकौड़े को लेकर पीएम पर निशाना साधने पर अमित शाह ने कहा पकौड़ा बेचना शर्म की बात नहीं है। इसकी भिखारी से तुलना ना करें। उन्होंने कहा इस देश में अगर चायवाले का बेटा पीएम बन सकता है तो पकौड़े बेचने वाला उद्योगपति भी बन सकता है।

गब्बर सिंह टैक्स

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पिछले दिनों जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स कहा था। इसपर अमित शाह ने कहा कि गब्बर सिंह एक डाकू था। जीएसटी काउंसिल की 23 बैठकें हो चुकी हैं। हर बैठक में कांग्रेस सरकार में मंत्री रह चुके कई लोग शामिल हुए उन्होंने सहमति जताई। लेकिन वे सदन में कुछ और भाषा  बोलते हैं। कानूनी रुप से टैक्स लेना का डकेती करना है।

एक साथ चुनाव फायदेमंद

वंशवाद, जातिवाद और तुष्टिकरण ने देश को पीछे धकेल दिया है। पीएम मोदी की अगुवाई वाली सरकार ने इन तीनों को उखाड़ फेंका है। शाह ने अपने भाषण में एक साथ चुनाव कराने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि पंचायत, लोकसभा, विधानसभा के चुनाव एक साथ होने चाहिए। इससे हर किसी का फायदा होगा।

60 सालों में जो नहीं हुआ वो हमने किया

अमित शाह ने कहा हमारी  सरकार ने आते ही कई बड़े फैसले लिये और जनधन योजना चलाई। 55 साल तक देश में एक ही परिवार का राज रहता था। इसके बाद भी गरीबों के पास बैंक अकाउंट नहीं था। जब पीएम ने इस योजना की घोषणा की तो मेरा मन भी आशंकित था कि जो 60 सालों में नहीं हुआ वो अब कैसे होगा। लेकिन इस योजना में आज 31 करोड़ बैंक अकाउंट खुल चुके हैं।

पीएम ने कहा तो लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ी

अमित शाह ने कहा एक बार लाल बहादुर शास्त्री ने लोगों से एक वक्त खाना छोड़ने के लिए कहा था तो लोगों ने उनका बात मानी। उसके बाद अब पीएम ने लोगों से गैस सब्सिडी छोड़ने के लिए कहा तो लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ दी। उन पैसों से हमारी सरकार ने उज्जवला योजना चलाई।

इसके अलावे भी अमित शाह ने ओआरओपी, तीन तलाक, कश्मीर नीति, जीएसटी, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर अपनी सरकार का तारीफ की और विपक्ष में बैठी कांग्रेस पर जोरदार हमला किया।

Loading...