चुनाव जीतने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ‘कसाब’ को यूपी लेकर आए!




नई दिल्ली: यूपी चुवान में अपने विरोधी को निशाना बनाने के लिए नई नई परिभाषा का इस्तेमाल हो रहा है। पीएम मोदी ने पहले कब्रिस्तान-श्मशान, रमजान-दिवाली का इस्तेमाल किया। इसके जवाब में समाजवादी पार्टी की तरफ से पीएम मोदी और अमित शाह के लिए ‘आतंकी’ शब्द का इस्तेमाल किया गया। ‘गदहा’ नाम के शब्द ने भी अपनी मौजूदगी दर्ज करवाई। इन सब के बाद अब ‘कसाब’ सामने आया है।

यूपी में आजमगढ़ में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ‘कसाब’ शब्द का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि यूपी के लोग कसाब नाम की बीमारी से परेशान हैं। उन्होंने कहा कि कसाब ने यूपी का विकास रोक दिया है। रैली में अपनी बात आगे बढ़ाते हुए अमित शाह ने कसाब का मतलब समझाया। उन्होंने कहा क मतलब कांग्रेस, स मतलब समाजवादी पार्टी और ब मतलब बहुजन समाज पार्टी।

उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि इस कसाब को यूपी से बाहर निकालिये। इसी कसाब की वजह से यूपी का विकास रुका हुआ है। अमित शाह के मुंह से कसाब का जिक्र हुआ तो कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा इस तरह के शब्द का इस्तेमाल कर बीजेपी अपना सांप्रदायिक चेहरा जनता को दिखा रही है। वहीं मायावती ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि अगर उन्हें सत्ता मिली तो रोहित वेमुला और ऊना जैसे कांड होंगे।

Loading...

Leave a Reply