अमित शाह की रणनीति फेल, बीजेपी के विधायक की बगावत से जीते अहमद पटेल

अमित शाह की रणनीति फेल, बीजेपी के विधायक की बगावत से जीते अहमद पटेल

नई दिल्ली:  अहमद पटेल को राज्य सभा पहुंचने से रोकने के लिए बीजेपी की तरफ से हर कोशिश की गई। लेकिन शाह की हर चाल कांग्रेस के चाणक्य के सामने फेल साबित हुई। अहमद पटेल की इस जीत में सबसे बड़ी भूमिका  निभाई बीजेपी विधायक ने। बीजेपी के विधायक नलिन कोटड़िया ने राज्यसभा चुनाव में अपना वोट बीजेपी को नहीं बल्कि कांग्रेस के उम्मीदवार अहमद पटेल को दिया था।

नलिन कोटड़िया ने कहा पार्टी की तरफ से व्हीप जारी किया गया था कि वोट बीजेपी के उम्मीदवार को ही देना है। लेकिन मैंने पार्टी के उस व्हीप को नहीं माना और अपना वोट अहमद पटेल को दिया। नलिन ने कहा राज्य में पाटीदार आंदोलन में 14 पटेलों की हत्या की गई। उसके बाद मेरी अंतरात्मा बीजेपी के पक्ष में वोट के लिए इजातत नहीं दे रही थी। इसलिए मैंने कांग्रेस के उम्मीदवार अहमद पटेल को वोट दिया। उन्होंने आगे कहा पार्टी का व्हीप नहीं मानने पर मुझ पर कार्रवाई हो सकती है। लेकिन उसकी परवाह नहीं है।

हलांकि अहमद पटेल की जीत में कांग्रेस के उन दो विधायकों के वोट को रद्द किया जाना भी काफी मायने रखता है। इन दोनों विधायकों ने राज्यसभा चुनाव में वोट डालने के बाद बैलेट पेपर वहां बैठे बीजेपी एजेंट दिखाया था। इसी वजह से कांग्रेस ने चुनाव आयोग से उन दो विधायकों के वोट रद्द करने की मांग की थी। चुनाव आयोग ने वोटिंग का वीडियो मंगाकर भी देखा। जिसके बाद दोनों विधायकों की तरफ से वोट डालने के बाद बैलेट पेपर दिखाने को गलत माना गया। चुनाव आयोग ने इसे गोपनीयता के उल्लंघन का मामला माना और दोनों विधायकों के वोट रद्द कर दिया।

हलांकि चुनाव आयोग के फैसले को बीजेपी कोर्ट में चुनौती देगी। कांग्रेस इसे बड़ी जीत मान रही है। ये कांग्रेस की जीत है भी। लेकिन पार्टी को ये सोचने की भी जरूरत है कि अहमद पटेल जैसे नेता को राज्य सभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए एड़ी चोटी एक करनी पड़ी और जब जीत मिली तो केवल आधे वोट से।

Loading...

Leave a Reply