दिल्ली में घर से मिले 11 लाशों के पीछे आध्यात्मिक एंगल आया सामने

नई दिल्ली:  दिल्ली के बुराड़ी से एक ही घर से बरामद 11 लाशों के पीछे एक चौंकानेवाला खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि परिवार के सदस्यों ने आध्यात्मिक कारणों से सामूहिक खुदकुशी की। लेकिन ये बात भी सामने आ रही है कि सभी लोगों ने खुदकुशी नहीं की। मरे पाए गए 11 लोगों में कुछ लोगों की हत्या भी की गई है।

पुलिस को घर के भीतर से कुछ ऐसे नोट्स मिले हैं जिससे ये संदेह पुख्ता होता दिख रहा है कि परिवार के सदस्य धार्मिक बातों और मोक्ष जैसी बातों के चक्कर में फंसकर ये कदम उठाया। पुलिस के मुताबिक नोट्स में जो बातें मिली हैं उनमें और खुदकुशी करने के तरीकों में काफी समानता पाई गई है।

जांच टीम के मुताबिक परिवार ने आध्यात्मिक चक्कर में फंसकर ये कदम उठाया। जिसके बाद ये आशंका जताई जा रही है कि परिवार ने मोक्ष हासिल करने के लिए कुछ खास धार्मिक रीतियों से खुदकुशी की है।

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक घर के भीतर से एक रजिस्टर मिला है। जिसमें कुछ खास धार्मिक रीतियों के बारे में लिखा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक रजिस्टर में लिखा है अगर स्टूल का इस्तेमाल करंगे, आंख बंद रखेंगे और हाथ बांध लेंगे तो आपको मोक्ष मिलेगा। जिस तरह से रजिस्टर में लिखा है घर के भीतर लाशें काफी हद तक उसी हालत में मिली। जिसके बाद पुलिस इस केस की जांच धार्मिक एंगल से भी कर रही है।

एडिशनल डीसीपी विनीत कुमार के मुताबिक घर की तलाशी में हाथ से लिखे कुछ नोट्स भी मिले हैं। जिससे पता चलता है कि परिवार किसी खास धार्मिक रिवाजों का अभ्यास करता था। पड़ोसियों के मुताबिक भी ये परिवार काफी धार्मिक प्रवृत्ति का था। घर के भीतर से एक अधूरा लिखा हुआ सुसाइड नोट्स भी मिला है।

ये बात भी सामने आ रही है कि परिवार के तीन लोगों ने खुदकुशी की योजना बनाई थी। लेकिन उससे पहले उन्होंने बाकी सदस्यों की हत्या कर उन्हें छत से लटका दिया। ये आशंका जताई जा रही है कि पहले उन तीन लोगों ने रात के खाने में नशीला पदार्थ मिलाकर खिला दिया। फिर उनके हाथ-पैर बांधकर और आंखों पर पट्टी बांधकर उन्हें फांसी के फंदे से लटका दिया। शायद उन्होंने मुंह पर पट्टी इसलिए बांधी थी ताकि होश आने पर भी वो शोर ना मचा सके।

घर की सबसे बुजुर्ग सदस्य 75 साल की नारायणा की हत्या गला दबाकर की गई। इस मामले में पुलिस ने हत्या का केस दर्ज किया है। नारायणा की विधवा बेटी जिसकी उम्र 58 साल थी उसे होश आ गया तो उसका गला रेतकर हत्या कर दी गई और फिर उसे फांसी पर लटका दिया।

घर में एक पालतू कुत्ता भी था। जिसे इस तरह का कदम उठाने से पहले छत पर बांध दिया गया था। पुलिस ने घर के अलग अलग जगहों से फिंगर प्रिंट्स भी लिये हैं। जिससे ये पता चल सकेगा कि खुदकुशी और हत्या की योजना किसने बनाई थी। कुत्ते के पट्टे पर से भी फिंगर प्रिंट्स लिये गए हैं।

(Visited 80 times, 1 visits today)
loading...