सपा कलह पर बड़ा खुलासा- पिता-पुत्र की लड़ाई चुनावी रणनीति का हिस्सा है!




लखनऊ: लखनऊ में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और सीएम अखिलेश यादव के बीच चल रही लड़ाई देश की सबसे बड़ी सियासी घटना मानी जा रही है। जैसे-जैसे दिन बीत रहे हैं वैसे इस लड़ाई में किसी चलचित्र की तरह नए नए दृश्य और सस्पेंस सामने आते जा रहे हैं। अगर अखिलेश के अमेरिकी सलाहकार की लीक हुई ई मेल पर यकीन करें तो समाजवादी पार्टी के भीतर चल रही लड़ाई एक फिल्मी ड्रामा से ज्यादा कुछ नहीं है।

अखिलेश ने यूपी चुनाव की रणनीति तैयार करने के लिए अमेरिका के मशहूर राजनीतिक रणनीतिकार स्टीव जार्डिंग को अपना सलाहकार चुना है। उसी स्टीव जार्डिंग का एक ईमेल लीक हुआ है। जिसमें बताया गया है कि सीएम अखिलेश की छवि को चमकाने के लिए ये लड़ाई जरुरी है। ये ईमेल जुलाई महीने का है।

rahul-kanwal-tweet-samajwadi-partyस्टीव जार्डिंग के इस ईमेल को पत्रकार राहुल कंवल ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर पोस्ट किया है। ‘जिसमें साफ साफ लिखा हुआ है कि मीडिया में सामने लाने के लिए मेरी सीनियर यादव को एक गुप्त योजना के तहत सलाह है कि परिवार को पूरे परिदृश्य से हटाने के लिए, चाचा को कसूरवार ठहराकर जूनियर यादव की क्लीन इमेज बनाई जाए और उन्हें भविष्य का पार्टी का मुखिया प्रोजेक्ट किया जाए। यह प्रमुखता पर है। इसलिए दो बजे बात करते हैं।‘

email-snapshotस्टीव जार्डिंग के इस ईमेल पर अगर यकीन किया जाए तो कहा जा सकता है कि पार्टी में जो लड़ाई दिखाई दे रही है दरअसल उसके पीछे किसी तरह की वैचारिक कटुता नहीं बल्कि एक तय रणनिति है। पिछले दिनों इस बात की चर्चा हर तरफ थी कि अखिलेश सरकार की बेहतर कोशिशों के प्रचार और उसे सामने लाने के लिए अमेरिकी पीआर एजेंसी को हायर करनेवाले हैं। यही पीआर एजेंसी पीएम मोदी के लिए भी काम कर चुकी है।
स्टीव जार्डिंग जानेमाने राजनीतिक रणनीतिकार हैं और हावार्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हैं। समाजवादी पार्टी ने अपनी चुनावी रणनीति तैयार करने के लिए जार्डिंग को हायर किया है। जार्डिंग ने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलरी क्लिंटन का चुनाव भी मैनेज किया था। उन्होंने यूएस के पूर्व वाइस प्रेसिडेंट अल गोर और स्पेनिश पीएम मरियानो रेजोय के लिए भी काम किया है।

Loading...