AKHILESH YADAV AND MUKHTAR ANSARI

चचा शिवपाल पर भारी पड़ी भतीजे अखिलेश की जिद्द

चचा शिवपाल पर भारी पड़ी भतीजे अखिलेश की जिद्द

चार दिन पहले ही यूपी में एक नया राजनीतिक गठजोड़ बना और चार दिन में ही उस गठजोड़ का अंत हो गया। चार दिन पहले Samajwadi Party में जिस कौमी एकता दल के विलय की घोषणा की गई थी वो विलय खारिज हो गया। वहीं इस विलय की वजह से मंत्रीमंडल से बाहर हुए बलराम यादव की दोबारा कैबिनेट में वापसी हो गई।

21 जून को एक प्रेस काफ्रेंस की गई। जिसमें एलान किया गया कि मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का Samajwadi Party में विलय कर दिया गया। उस प्रेस कांफ्रेंस में सपा सुप्रीमो Mulayam Singh Yadav के भाई और CM Akhilesh के चाचा शिवपाल यादव और मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी मौजूद थे। विलय की उस वेला में अफजाल अंसारी की तरफ से Samajwadi Party के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने की कसम खाई गई।

इस विलय की आहट जब CM Akhilesh तक पहुंची तो मुलायम के घर में महाभारत शुरु हो गया। भीतर की खबर जब बाहर तक आई तो उसका मतलब ये निकला कि अखिलेश मुख्तार अंसारी या उनकी पार्टी के साथ किसी तरह का गठबंधन नहीं रखना चाहते। जिसके बाद इस बेमेल की शादी के पुजारी रहे बलराम यादव को मंत्रीमंडल से रातों रात बाहर कर दिया गया। ये बात किसी के समझ में नहीं आई कि आखिर बलराम यादव को मंत्रीमंडल से क्यों बाहर किया गया। कहा ये जा रहा था कि कौमी एकता दल का Samajwadi Party में विलय के पीछे बलराम यादव ने अहम भूमिका निभाई थी। इसी से नाराज थे CM Akhilesh।

विलय के बारे में जब शिवपाल यादव से सवाल किया गया तो उनका जवाब था कि नेता जी (Mulayam Singh Yadav) की मर्जी से ही विलय किया गया। चार दिन के इस गठजोड़ ने अपने पीछे कई सवाल खड़े कर दिये। क्योंकि जब इस विलय पर CM Akhilesh से सवाल किये गए तो उनका जवाब ये बता रहा था कि उन्हें ये विलय मंजूर नहीं है। अखिलेश ने कहा था कि जब आप अच्छा काम करते हैं तो आपको किसी के सहारे की जरुरत नहीं पड़ती। मतलब साफ था किसी सूरत में अखिलेश मुख्तार अंसारी के साथ चलने के पक्ष में नहीं थे। आखिर चार दिन बाद कौमी एकता दल का Samajwadi Party में विलय रद्द हो गया। यहीं चचा शिवपाल की सोच पर भतीजा अखिलेश की जिद्द भारी पड़ गई।

-Samajwadi Party, Mulayam Singh Yadav, CM Akhilesh, Balram Yadav, Shivpal Yadav, Mukhtar Ansari, Afzaal Ansari

Loading...

Leave a Reply