सात जवानों के शव गत्ते के डिब्बे में लपेटने पर सेना ने दी सफाई

सात जवानों के शव गत्ते के डिब्बे में लपेटने पर सेना ने दी सफाई

नई दिल्ली:  सेना से जुड़ी एक बेहद ही झकझोर देने वाली तस्वीर सामने आई है। जिसमें पिछले दिनों अरुणाचल प्रदेश के तवांग में एयरक्रैश में मारे गए सेना के 7 जवानों के शव को गत्ते के डिब्बे में रस्सियों से बाधकर उनके घर के लिए रवाना किया गया। सोशल मीडिया सैनिकों के शव को उनके घर भेजे जाने ये तस्वीर वायरल हो रही है। जिसने भी इस तस्वीर को देखी वो सन्न रह गया।

हेलिकॉप्टर क्रैश में मारे गए सैनिक वायु सेना और थल सेना के जवान थे। तकनीकी खराबी की वजह से वायुसेना का Mi-17 हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया था। हेलिकॉप्टर तवांग में 17 हजार फीट की ऊंचाई पर क्रैश हुआ था। हादसे के बाद जवानों के शव को अस्पताल ले जाया गया। जिसके बाद उन्हें मृत घोषित किया गया। जिसके बाद पोस्टमार्टम के बाद उनके शव को पूरे सैनिक सम्मान के बाद उनके घर भेजा गया। लेकिन जिस तरह से गत्ते के डिब्बे में जवानों के शव को रखा गया था उसे देखकर सभी हैरान हैं।

इस बारे में सेना के सूत्रों का कहना है कि ज्यादा ऊंचाई होने की वजह से Mi-17 हेलिकॉप्टर लकड़ी के 7 ताबूत का वजन लेकर उड़ान नहीं भर सकता। इसलिए जवानों के शवों को इस तरह से गत्ते के डिब्बे में लाया गया। लेकिन नॉदर्न कमांड के आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एचएस पनाग ने रविवार को ट्वीट किया

सेना की तरफ से भी इस मामले  के सामने आने के बाद ट्वीट किया गया। जिसमें कहा गया कि जिस जगह पर ये हादसा हुआ वहां पर कॉफीन स्टोर कर नहीं रखा जाता है। क्योंकि उतनी ऊंचाई पर इस तरह के जगह की कमी होती है।

Loading...

Leave a Reply