VINOD KHANNA

विनोद खन्ना का निधन, मुंबई के अस्पताल में ली आखिरी सांस

विनोद खन्ना का निधन, मुंबई के अस्पताल में ली आखिरी सांस

मुंबई:  विनोद खन्ना का मुंबई के अस्पताल में निधन हो गया। वो 70 साल के थे। पिछले काफी महीनों से विनोद खन्ना बीमार थे। बताया जा रहा है उन्हें कैंसर था। पिछले दिनों उन्हें सीवियर डिहाईड्रेशन हुआ था। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उस वक्त उनकी एक तस्वीर भी सामने आई थी। जिसमें वो काफी बीमार दिखाई दे रहे थे।

उस तस्वीर के सामने आने के बाद उनके परिवार ने कहा था कि उनकी हालत में सुधार हो रहा है। लेकिन उनकी सेहत लगातार खराब होती गई। और आज गुरुवार को उनका निधन हो गया। इस वक्त विनोद खन्ना पंजाब के गुरदासपुर से बीजेपी के सांसद थे।

विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर 1946 में पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। विभाजन के बाद उनका परिवार मुंबई आ गया था। उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत 1968 में की। उन्हें सुनील दत्त ने अपनी होम प्रोडक्शन मन का मीत में पहली बार बतौर विलेन लॉन्च किया था। यहीं से विनोद खन्ना के फिल्मी सफर की शुरुआत हुई। जिसके वाद वो लगातार आगे बढ़ते रहे।

बॉलीवुड में विनोद खन्ना एक हैंडसम अभिनेता के तौर पर जाने जाते थे। गुलजार की फिल्म मेरे अपने में विनोद खन्ना के अभिनय की काफी तारीफ हुई। इसी साल आई मेरा गांव मेरा देश में डाकू के किरदार में विनोद खन्ना को एक नई पहचान मिली। इसके बाद वो कभी पीछे मुड़कर नहीं देखे। उनके दो बेटे अक्षय खन्ना और राहुल खन्ना हैं। दोनों इस वक्त बॉलीवुड के जाने माने नाम हैं।

अमर अकबर एंथनी में उन्होंने अमिताभ के साथ अभिनय किया। फिल्म में कामयाबी की सीढ़ी चढ़ रहे विनोद खन्ना अचानक अध्यात्म की तरफ मुड़ गए। ओशो की तरफ विनोद खन्ना का झुकाव बढ़ने लगा। हर हफ्ते दो-तीन दिन वो पुणे के ओशो आश्रम में बिताते थे। जिस वक्त उनका करियर बुलंदी पर था उस वक्त वो फिल्म इंडस्ट्री छोड़कर अमेरिका चले गए। और वहां ओशो के आश्रम में माली बन गए।

लेकिन फिर 6 साल बाद वो वापस भारत आ गए। वापसी के बाद विनोद खन्ना ने कई फिल्में की। लेकिन पहले वाली अब नहीं दिखी। इसके बाद उन्होंने कविता से शादी कर ली। कविता से विनोद खन्ना के दो बच्चे हैं। उन्होंने सलमान के साथ दबंग में भी काम किया था।

VINOD KHANNA
जब अस्पताल में भर्ती थे विनोद खन्ना

आज उनके जाने के बाद पूरी फिल्म इंडस्ट्री उन्हें नम आंखों से याद कर रही है। विनोद खन्ना हमेशा एक हैंडसम स्टार की तरह याद किये जाते रहे। उन्होंने 140 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। 1997 में विनोद खन्ना ने राजनीति में कदम रखा। विनोद खन्ना केंद्र सरकार में पर्यटन और विदेश राज्य मंत्री भी रहे।

Loading...

Leave a Reply