अभिनंदन वर्तमान को पाकिस्तान ने भारत को सौंपा, देशवासी बोले ‘आपका अभिनंदन है’

वाघा बॉर्डर/पंजाब:  एयर फोर्स के जांबाज पायलट विंग कमांडर अभिनंदन अपने वतन वापस आ चुके हैं। अभिनंदन के स्वागत के लिए पूरा देश आज सुबह से ही पंजाब में वाघा बॉर्डर पर टकटकी लगाए बैठी थी। सुबह से ही जिस पल के इंतजार में लोग वाघा बॉर्डर पर मौजूद थे वो पल रात के 9 बजकर 20 मिनट पर आया। अभिनंद को पाकिस्तानी अफसर लेकर वाघा बॉर्डर पर पहुंचे। जिसके बाद कागजी कार्रवाई के बाद उन्हें भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया गया।

वाघा बॉर्डर से अभिनंदन को अमृतसर एयरपोर्ट ले जाया गया। जहां से उन्हें दिल्ली लाया गया। अभिनंदन 52 घंटे तक पाकिस्तान के कब्जे में रहे। अभिनंदन की रिहाई को लेकर पाकिस्तान ने जो मंशा पाल रखी थी उसे भी भारत की तरफ से बेकार कर दिया गया।

दरअसल पाकिस्तान वाघा बॉर्डर पर होनेवाले बीटिंग रीट्रीट के दौरान अभिनंदन को भारत को सौंपना चाहता था। ताकि अंतराष्ट्रीय मंच पर वो इस बात को भुना सके। लेकिन बीएसएफ ने पाकिस्तान के इस मंसूबे को नाकाम कर दिया। बीएसएफ ने वाघा बॉरर्ड पर होने वाले बीटिंग रीट्रीट को पूरी तरह से रद्द कर दिया । पाकिस्तान के इस मंसूबे से भारत भी वाकिफ था। इसलिए भारत ने बीटिंग रीट्रीट से पहले अभिनंदन की रिहाई की मांग रखी थी।

भारत ने पहले वायु मार्ग से अभिनंदन को भारत भेजने की मांग की थी। लेकिन पाकिस्तान इसके लिए राजी नहीं हुआ। जिसके बाद अभिनंदन को सड़क मार्ग से वाघा बॉर्डर के रास्ते भारत को सौंपा गया। यहां भी पाकिस्तान की मंशा थी कि वो बीटिंग रीट्रीट के वक्त अभिनंदन को भारत को सौंपे। लेकिन उसके इस मंसूबे को भी भारत की तरफ से नाकाम कर दिया गया।

27 फरवरी को पाकिस्तानी विमानों में सीमा पार कर भारत के सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की। लेकिन कामयाब नहीं हुआ। पाकिस्तान ने एफ 16 विमान का इस्तेमाल इस हमले के लिए किया था। जिसके बाद मिग 21 ने पाकिस्तानी एफ 16 का पीछा किया। उसी मिग 21 को  विंग कमांडर अभिनंदन उड़ा रहे थे। एफ 16 का पीछा करते हुए अभिनंदन पीओके में पहुंच गए। वहां उन्होंने एफ 16 को मार गिराया। लेकिन उसके बाद अभिनंदन का मिग 21 दुर्घटनाग्रस्त हो गया। जिसके बाद अभिनंदन पीओके में पाराशूट उतरे। उसके बाद भीड़ ने उन्हें घेर लिया। बाद में पाकिस्तानी आर्मी उन्हें अपनी हिरासत में लिया।

(Visited 87 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *