AAP के राज्यसभा उम्मीदवार सुशील गुप्ता ने कभी केजरीवाल का विरोध किया था

नई दिल्ली:  आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा के लिए होनेवाले चुनाव में अपने उम्मीदवारों का एलान कर दिया। तीन नामों में से एक AAP के संयोजक संजय सिंह हैं जबकि दो नाम बाहर के हैं। जिनमें से सुशील गुप्ता और सीए नारायण दास गुप्ता हैं। इन तीन नामों के बारे में जानकारी देने आए दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि सुशील गुप्ता जाने माने समाजसेवी हैं। सिसोदिया के मुताबिक वो 15000 बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रहे हैं। दिल्ली में कई चेरिटेबल अस्पताल चलाते हैं। लेकिन उन्हीं सुशील गुप्ता के बारे में कुछ महीनों पहले एक पोस्टर काफी चर्चा में आया था।

उस पोस्टर के बारे में बताने से पहले ये बताना जरुरी है कि सुशील गुप्ता का राजनीतिक बैकग्राउंड क्या है। सुशील गुप्ता AAP में शामिल होने से पहले कांग्रेस से जुड़े रहे हैं। 2015 में वो कांग्रेस के टिकट पर AAP के खिलाफ चुनाव भी पड़ चुके है। हलांकि उस चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

 

28 नवंबर 2017 को सुशील गुप्ता ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया

दिल्ली में जब AAP की सरकार बनी तो सुशील गुप्ता का एक पोस्टर काफी चर्चा में आया था। जिसमें उन्होंने केजरीवाल के विज्ञापन खर्च पर सवाल उठाए थे और गंभीर आरोप भी लगाए थे। इसे सुशील गुप्ता ने वसूली दिवस नाम दिया था और इस अभियान के समर्थन में हस्ताक्षर अभियान भी चलाया था। पोस्टर में लिखा गया था 854 करोड़ रुपये जनता की कमाई, केजरीवाल ने प्रचार में लुटाई। उस वक्त एक रिपोर्ट सामने आई थी जिसमें कहा गया था कि केजरीवाल ने अपने प्रचार प्रसार में करोड़ों रुपये खर्च किये हैं।

Loading...