AAP के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने के बाद दिल्ली में क्या होगा?

नई दिल्ली:  आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। चुनाव आयोग ने AAP के 20 विधायकों को अयोग्य करार दिया है। इनपर विधायक रहते लाभ के पद पर बने रहने का आरोप है। चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति के पास अपनी सिफारिश भेज दी है। सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक अब AAP के इन 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होना तय माना जा रहा है। आम आदमी पार्टी चुनाव आयोग के इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील की है।

20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने पर क्या होगा?

चुनाव आयोग के फैसले के बाद अब हर कोई ये जानना चाहता है कि अगर आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने की सिफारिश पर राष्ट्रपति मुहर लगा देते हैं तो क्या होगा।

  • दिल्ली विधानसभा में कुल 70 विधायक हैं
  • आम आदमी पार्टी के 67 विधायक थे लेकिन अब 66 रह गए हैं।
  • जरनैल सिंह ने पंजाब चुनाव के वक्त इस्तीफा दे दिया था।
  • आप के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने पर उनके विधायकों की संख्या 46 रह जाएगी।
  • दिल्ली में सरकार बनाने के लिए 36 विधायकों की जरुरत है। यानि 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने के बाद भी दिल्ली सरकार पर कोई खतरा नहीं है।
  • केजरीवाल सरकार के पास सरकार चलाने के लिए पर्याप्त बहुमत रहेगा।
  • इन 20 सीटों पर दोबारा चुनाव करवाए जाएंगे।
  • कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा कि इस तरह के मामलों में चुनाव आयोग का फैसला मान्य होता है। और राष्ट्रपति के पास चुनाव आयोग की तरफ से जो सिफारिश भेजी जाती है उसपर राष्ट्रपति मुहर लगा देते हैं। इसलिए इन 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होना तय है।
Loading...