AAP के 20 विधायक राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे-मनीष सिसोदिया

नई दिल्ली:  चुनाव आयोग ने AAP के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराया है और राष्ट्रपति के पास उनकी सदस्यता रद्द करने की सिफारिश कर दी है। जिसके बाद दिल्ली सरकार के भीतर हलचल तेज है। इस मुद्दे को लेकर दिल्ली सभी 20 विधायकों के साथ बैठक की गई। बैठक के बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा चुनाव आयोग ने जो फैसला लिया है वो बिना विधायकों का पक्ष सुने लिया है।

चुनाव आयोग का फैसला असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक है। हमारे विधायकों से सबूत नहीं मांगे गए। हम राष्ट्रपति से समय की मांग कर रहे हैं, जिसमें विधायक अपनी बात उनके सामने रखेंगे। उन्होंने कहा कि इस मामले में चुनाव आयोग ने कोई सुनवाई नहीं की, विधायकों से कोई सबूत नहीं मांगे गए और अपना फैसला सुना दिया।

हम राष्ट्रपति से मांग करेंगे कि वो चुनाव आयोग को सिफारिश वापस भेजें और उनसे कहें कि वो विधायकों की बात सुनें उनके सबूत देखें और पूरी सुनवाई करें। सिसोदिया ने विधायकों का बचाव करते हुए कहा किसी विधायक ने एक पैसे का लाभ नहीं लिया। बंगला, गाड़ी, वेतन कुछ भी नहीं लिया, फिर ये लाभ का पद कैसे हो गया।

विधायक अपना पैसा खर्च कर अपना काम करते थे। सरकार की मदद के लिए संसदीय सचिव बनाए गए थे ये विधायक। मोहल्ला क्लीनिक, स्कूल के नवीनीकरण, अनधिकृत कॉलोनी जैसे योजनाओं पर सरकार की मदद करने के लिए इन विधायकों को संसदीय सचिव बनाया गया था। इसके बदले इन्हें एक पैसा नहीं दिया जा रहा था।

सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में हमारी सरकार बने तीन साल हो गए। हमने पहले साल में बिजली के दाम आधे किये थे। पानी के दाम आधे कर रखे हैं। 309 कॉलोनियों में पानी पहुंचाया है। जहां आजतक पानी नहीं पहुंचा था। फ्लाइओवर का काम कम वक्त में और कम पैसे में पूरा किया गया।

बीजेपी और कांग्रेस बेईमानी की दुकान की राजनीति कर रहे थे। उनकी दुकान बंद हो गई। इन्होंने हमारे विधायकों के खिलाफ फर्जी एफआईआर दर्ज करवाए। सीएम दफ्तर पर सीबीआई रेड करवाए। विधायकों को खरीदने की कोशिश की। हमारी 400 फाइल दबा दी। उन फाइलों की खूब स्क्रूटनी करवाई लेकिन इन्हें कोई सबूत नहीं मिले हमारे खिलाफ।

इन्होंने आज फिर से षडयंत्र किये हैं। बीजेपी को चिंता है कि अगर सरकार चौथे गियर में चली गई तो और मुश्किल हो जाएगी। आम आदमी पार्टी की सरकार और रफ्तार पकड़ लेगी। सरकार ने घर घर जाकर राशन बांटने की योजना पर काम शुरु कर दिया है। हमारी सरकार की इन्हीं काम की वजह से बीजेपी वाले घबराए हुए हैं।

Loading...