AAP के 20 विधायक अयोग्य घोषित, EC ने राष्ट्रपति को भेजी सिफारिश

नई दिल्ली:  आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। चुनाव आयोग ने AAP के 20 विधायकों को अयोग्य करार दिया है। इनपर विधायक रहते लाभ के पद पर बने रहने का आरोप है। चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति के पास अपनी सिफारिश भेज दी है। सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक अब AAP के इन 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होना तय माना जा रहा है। आम आदमी पार्टी चुनाव आयोग के इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करने का फैसला लिया है।

संसदीय सचिव बनाए जाने के बाद से ही ये विधायक विवादों में आए थे। जिसके बाद मामला चुनाव आयोग पहुंचा था। चुनाव आयोग की बैठक में इन्हें अयोग्य करार दिया गया है। इससे पहले इस मामले पर AAP दिल्ली हाईकोर्ट भी गई थी। लेकिन हाई कोर्ट से भी AAP को राहत नहीं मिली थी।

चुनाव आयोग के इस फैसले पर AAP ने नाराजगी जाहिर की है। AAP ने कहा है कि पीएम मोदी को खुश करने के लिए मुख्य चुनाव आयुक्त एके ज्तोति ने ये फैसला लिया है। वो 23 जनवरी को रिटायर होनेवाले हैं। अपने रिटायरमेंट से ठीक पहले उन्होंने ये फैसला क्यों लिया? AAP ने कहा कि एके ज्योति मोदी के सचिव रह चुके हैं। ये जनप्रतिनिधि के खिलाफ साजिश है। जिन विधायकों को संसदीय सचिव बनाया गया था उन्होंने ना तो वेतन लिया, ना ही गाड़ी ली और ना ही बंगला लिया। इसलिए वो लाभ के पद के दायरे में नहीं आते हैं।

Loading...