अब आधार नंबर नहीं वर्चुअल आईडी से होगा काम, जानें कैसे जेनरेट करेंगे

अब आधार नंबर नहीं वर्चुअल आईडी से होगा काम, जानें कैसे जेनरेट करेंगे

नई दिल्ली:  आधार नंबर की सुरक्षा को लेकर उठ रहे सवालों के बीच सरकार की तरफ से नई शुरुआत की जा रही है। जिसके तहत आधार कार्ड में दर्ज डिटेल को पूरी तरह से सुरक्षित बनाया जाएगा। इसके लिए अब वर्चुअल आईडी जेनरेट किया जाएगा। जो 16 डिजीट का होगा। जबकि अभी आधार नंबर 12 अंकों का होता है। आधार अथॉरिटी UIDAI की तरफ से ये कदम उठाया जा रहा है। इसके बाद जहां भी आधार नंबर देने की जरूरत होगी वहां आप वर्चुअल आईडी दे सकते हैं, आधार नंबर देना जरूरी नहीं होगा।

वर्चुअल आईडी मिलने की शुरुआत 1 मार्च से हो जाएगी। बताया जा रहा है इसमें व्यक्ति का डेटा पूरी तरह से सुरक्षित रहेगा। 1 जून से सभी एजेंसियों के लिए भी ये अनिवार्य हो जाएगा कि वो वर्चुअल आईडी स्वीकार करें।

वर्चुअल आईडी को अनगिनत बार जेनरेट किया जा सकेगा। एक आईडी केवल कुछ ही समय के लिए मान्य होगा। जिससे एक आईडी के गलत इस्तेमाल की आशंका नहीं के बराबर होगी। वर्चुअल आईडी को आप खुद जेनरेट कर सकेंगे। इसके लिए पहले UIDAI की वेबसाइट पर जाना होगा। माना जा रहा है इसी वेबसाइट पर वर्चुअल आईडी जेनरेट करने के लिए टैब दिया जाएगा। जिसकी मदद से वर्चुअल आईडी जेनरेट किया जा सकेगा।

आईडी जेनरेट करने के बाद जहां भी आपको आधार नंबर देना है वहां आप वर्चुअल आईडी दे सकते हैं। इस आईडी को देने के बाद वो आधार से जुड़ा काम कर सकेगा। इसका फायदा ये होगा कि एजेसियां आधार डिटेल एक्सेस नहीं कर सकेंगे। केवल उतनी ही जानकारी वो देख पाएंगे जितना उनके लिए जरूरी होगा।

जानकारी के मुताबिक UIDAI हर आधार नंबर के लिए एक टोकन जारी करेगी। इस टोकन की मदद से एजेंसियां आधार डिटेल को वेरीफाई कर सकेंगे। टोकन नंबर हर आधार नंबर के लिए अलग होगा। यह टोकन स्थानीय एजेंसियों को दिया जाएगा।

Loading...