अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए भी आधार कार्ड जरुरी होगा

नई दिल्ली: एक ही नाम से अलग अलग जगहों से ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की कोशिश पर रोक लगाने के लिए अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आधार कार्ड को जरुरी किया जा सकता है। इसके लिए केंद्र सरकार राज्यों की सरकारों से इस सेफ्टी मेजर को अपनाने की अपील करेगी। चुकी ड्राइविंग लाइसेंस जारी करना राज्य का विषय है इसलिए इसपर केंद्र सरकार सभी राज्यों से इसे अपनाने की अपील करेगी।

कई मामलों में ऐसा देखा जाता है कि ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करने पर अगर ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त कर दिया जाता है तो किसी दूसरे राज्य से व्यक्ति दोबारा ड्राइविंग लाइसेंस बनवा लेता है। इसका नतीजा ये होत है कि सख्ती के बावजूद भी ट्रैफिक नियम उल्लंघन पर रोक नहीं लगाई जा सकती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आज की तारीख में दोबारा ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना काफी आसान है।

ये भी पढें :

– अपने Teenage बच्चों से जरुर पूछें कि आज स्कूल में क्या किया, लेकिन पहले देखें ये VIDEO
– बॉलीवुड गाने पर इस पाकिस्तानी लड़की का डांस हो रहा है वायरल

लेकिन अगर आधार कार्ड को आवेदक के पहचान के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा तो इससे एक व्यक्ति के नाम से कई ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना मुश्किल हो जाएगा। इसमे अगर किसी के पास आधार कार्ड नहीं है तो उसे दूसरे दस्तावेज जमा कराने होंगे। इसके साथ साथ सभी आरटीओ की ड्राइविंग लाइसेंसों के सेंट्रल डेटाबेस तक पहुंच होगी। जिससे की वो इस बात का पता लगा सकेंगे कि आवेदक के नाम से देश के किसी दूसरे राज्य से कोई ड्राइविंग लाइसेंस जारी हुआ है या नहीं।

अभी तक रियल टाइम डेटा तक आरटीओ की पहुंच नहीं होने की वजह से वो इस बात की जांच नहीं कर सकते हैं कि आवेदक के पास ड्राइविंग लाइसेंस है या नहीं। हलांकि अब नेशनल इंफॉर्मैटिक्स सेंटर ने ज्यादातर डेटा को आरटीओ के रेकॉर्ड के लिए अपलोड कर दिया है। ड्राइविंग लाइसेंस से सभी डेटा को डिजिटल फॉर्मेट में तब्दील करने का काम शुरू किया जा चुका है।

Loading...