chennai-cricket-pitch

भारत-इंग्लैंड 5वां टेस्ट में चेन्नई के पिच और कोयले का क्या है कनेक्शन?

भारत-इंग्लैंड 5वां टेस्ट में चेन्नई के पिच और कोयले का क्या है कनेक्शन?




नई दिल्ली: चेन्नई में शुक्रवार से भारत-इंग्लैंड के बीच पांचवां और आखिरी टेस्ट मैच खेला जाएगा। हाल में आए वरदा तूफान के बाद चिदंबरम स्टेडियम की पिच गीली हो गई थी। जिसे कोयले से सुखाया जा रहा है। ताकि ये आखिरी टेस्ट कई सुनहरी यादों और नए रिकॉर्ड के साथ खत्म हो।

चेन्नई के टेस्ट में विराट और आर. अश्विन के सामने पुराने रिकॉर्ड तोड़ने का सुनहरा अवसर है। क्योंकि दोनों ही शानदार फॉर्म में चल रहे हैं। विराट इंग्लैड के साथ सीरीज के इस आखिरी मैच में जहां गावस्कर का रिकॉर्ड तोड़ने की कोशिश करेंगे तो अश्विन कपिल देव के एक कैलेंडर वर्ष में 75 विकेटों का रिकॉर्ड तोड़ना चाहेंगे।

गावस्कर ने अपनी पहली सीरीज खेलते हुए 1970-71 में वेस्टइंडीज में 774 रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया था। गावस्कर भारत के टेस्ट इतिहास में अबतक ऐसे अकेले खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो बार एक सीरीज में 700 से ज्यादा रन बनाए। इस भारत-इंग्लैंड सीरीज में विराट अबतक 640 रन बना चुके हैं। गावस्कर का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए विराट को 135 रनों की जरुरत है।

विराट की बल्लेबाजी के सामने इंग्लैंड के गेंदबाद बौने साबित हो रहे हैं तो भारतीय गेंजबाज आर अश्विन की गेंदबाजी के सामने इग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए बड़ा स्कोर खड़ा करना मुश्किल साबित हो रहा है। अश्विन ने चार मौचों में 27 विकेट हासिल किये हैं। जिसमें पारी में पांच विकेट तीन बार और टेस्ट में 10 विकेट एक बार शामिल है।

अश्विन के खाते में इस साल 71 विकेट आ चुके हैं। ऐसे में अश्विन के पास पूर्व तेज गेंदबाज कपिल देव का रिकॉर्ड तोड़ने का शानदार मौका है। कपिलदेव ने एक कैलेंडर वर्ष में 75 विकेट लिये थे। कपिल देव ने 1983 में 18 मैचों में 75 विकेट हासिल किये थे जबकि अश्विन ने 11 मैचों में 71 विकेट लिये हैं।

Loading...

Leave a Reply