…तो आपके Airtel का सिम हो जाएगा बेकार!

दिल्ली: भारत की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी एयरटेल ने एक बड़ी खरीदारी की है। ताकि अपने ग्राहकों को बेहतर सर्विस मुहैया करा सके। लेकिन इस खरीदारी की वजह से कंपनी पर अरबों रुपये का कर्ज भी आ गया है। जिसके बाद एक डर ये सताने लगा है कि अगर इस भारी भरकम कर्ज से कंपनी नहीं उबर पाई तो उसके ग्राहकों का क्या होगा?

भारती एयरटेल ने स्पेक्ट्रम खरीदा है। जिससे कंपनी पर तकरीबन दो अरब डॉलर तक का कर्ज बढ़ सकता है। लेकिन संभावना ये जताई जा रही है कि अगले एक साल में कंपनी इस बोझ से मुक्त हो जाएगी। ये आकलन मूडीज इंवेस्टर्स सर्विस ने अपनी रिपोर्ट में दी है।

भारती एयरटेल ने हाल ही में 14,244 करोड़ में 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज और 2300 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम खरीदा है। इस खरीद के बाद एयरटेल के पास सभी सर्किल में 3G और 4G स्पेक्ट्रम है। मूडीज के उपाध्यक्ष और वरिष्ठ ऋण अधिकारी एन्नालिसा डिचियारा ने कहा कि स्पेक्ट्रम की नीलामी अदा करने के लिए एयरटेल का कर्ज हलांकि दो अरब डॉलर बढ़ जाएगा लेकिन यह थोड़े समय के लिए होगा और कुछ महीनों के बाद सबकुछ सामान्य हो जाएगा।

मूडीज का मानना है कि कंपनी की तरफ से 12 मीहने में किस्तों में भुगतान का विकल्प चुना जाएगा। इसमें उसे 50 फीसदी रकम पहले चुकानी होगी जो तकरीबन 7100 करोड़ बनता है। इस रकम का इंतजाम कर्ज से किया जाएगा। बाकी का रकम 10 वार्षिक किश्तों में चुकाया जाना है। भारतीय इंफ्राटेल का शेयर के हिसाब से बाजार मूल्य 11 अक्टूबर को 69,800 करोड़ रुपये था। इसमें भारती की हिस्सेदारी का बाजार मूल्य 50,200 करोड़ है।

Loading...

Leave a Reply