केरल में बाढ़ से अब तक 324 लोगों की मौत, हालात का जायजा लेने PM मोदी पहुंचे कोच्चि

नई दिल्ली:  केरल में आयी 100 साल के इतिहास में सबसे भीषण बारिश और बाढ़ से अब तक 324 लोगों की मौत हो चुकी है। केरल मानसूनी वर्षा से बेहद प्रभावित हुआ है। राज्य का बड़ा हिस्सा जलमग्न हो गया है।जिसका जायजा लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केरल में है।पीएम मोदी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के बाद बाढ़ का हवाई सर्वेक्षण किया।

कल शाम वाजपेयी के अंतिम संस्कार के बाद मोदी केरल रवाना हो गए थे ।जिसके बाद आज सुबह वो कोच्चि पहुचे। प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि केरल के लोगों के दुख दर्द पर पिछले कुछ दिनों से पीएम का ध्यान है। केंद्र सरकार की तरफ से केरल को तत्काल 500 करोड़ की सहायता राशि दी गई है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर पीएम से अपील की है कि केरल की प्रलयंकारी बाढ़ को अविलंब राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए।

बाढ़ के कारण लोग अपने-अपने घर की छतों, ऊंचे स्थानों पर फंसे हुए है जिसको एनडीआरएफ कर्मियों के अलावा सेना, नौसेना, वायुसेना के कर्मियों ने निकलना शुरू कर दिया है।कुछ ऊंचाई वाले इलाकों में पहाड़ों के दरकने के कारण चट्टानों के टूटकर नीचे सड़क पर गिरने से सड़कें अवरुद्ध हो गयीं।जिससे लोगो का संपर्क दुनिया से टूट गया है।जिसे बचाने के लिए हेलीकॉप्टर का सहारा लिया जा रहा है।साथ ही ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और ब्रिटेन में रह रहे प्रवासी केरलवासी अपने-अपने प्रियजन की मदद की खातिर टीवी चैनलों के माध्यम से अधिकारियों से गुहार लगा रहे हैं।

बता दे कि अलुवा, कालाडी, पेरुम्बवूर, मुवाट्टुपुझा एवं चालाकुडी में गजब की एकता देखने को मिल रहा है।इन इलाकों में फंसे लोगों को बचाने के लिए स्थानीय मछुआरे भी अपनी-अपनी नौकाएं लेकर बचाव अभियान में शामिल हुए हैं।

कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के रनवे पर बाढ़ का पानी आ जाने के कारण विमानों का परिचालन बंद है।सूत्रों ने बताया कि कई ट्रेनों को या तो रद्द कर दिया गया है और उनके समय में परिवर्तन किया गया है।लेकिन अभी तक मेट्रो सेवा बाधित नही हुई है।

इस भीषण बाढ़ के कारण केरल से सटे कर्नाटक के कोडगू जिले में बाढ़ एवं भूस्खलन के कारण कई लोग फंसे है और सभी बड़ी सड़कें अवरुद्ध हो गयी हैं।जिसके लिए व्यापक बचाव अभियान शुरु किया गया है जिसमे सेना की डोगरा रेजीमेंट की एक टुकड़ी समेत विभिन्न एजेंसियां भी शामिल है।

इस बदत्तर स्तिथि में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मदद का हाथ बढ़ाया है। जिसमें करोड़ रूपये की तत्काल सहायता का ऐलान किया तो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केरल के लिए 10 करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की है।

(Visited 51 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *