भारत ने लिया माछिल का बदला, फायरिंग में पाकिस्तानी सेना के अफसर समेत 3 मारे गए




नई दिल्ली: माछिल सेक्टर में भारतीय जवान के शव के साथ की गई बर्बरता का जवाब पकिस्तान को 24 घंटे के भीतर ही मिल गया। भारतीय फौज ने जवाब भी ऐसा दिया कि पाकिस्तानी DGMO ने भारतीय DGMO लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह से फोन पर बातचीत की और फायरिंग बंद कर बातचीत करने की ख्वाहिश जाहिर कर दी।

माछिल सेक्टर में पाकिस्तानी सैनिकों ने घात लगाकर तीन भारतीय जवानों की हत्या कर दी थी। जिनमें से एक के शव के साथ बर्बरता की गई थी। इसका जवाब पाकिस्तान को भारी तबाही के रुप में चुकाना पड़ा।पाकिस्तानी सेना के एक कैप्टन समेत तीन जवान मारे गए। हलांकी इस गोलीबारी में चार पाकिस्तानी सिविलियंस को भी जान गंवानी पड़ी। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पहली बार पाकिस्तानी DGMO ने भारतीय DGMO से बात की है।

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा भारत ने अघोषित रुप से पाकिस्तान के साथ युद्ध शुरु कर दिया है। पाकिस्तान जिस भाषा को समझता है भारतीय फौज ने उसी अंदाज में पाकिस्तान को जवाब दिया है। 2003 के बाद पहली बार इस इलाके में भारतीय फौज ने इतनी बड़ी मात्रा में फायरिंग की है। जिसमें पाकिस्तानी सेना का एक अफसर और दो जवान मारे गए। पाकिस्तानी सेना ने भी एक अफसर के मारे जाने की पुष्टि की है।

पाकिस्तान को जब ये एहसास हुआ कि अब भारतीय सेना उसे बख्शने के मूड में नहीं है तब जाकर पाकिस्तान की तरफ से DGMO स्तर की वार्ता का प्रस्ताव दिया गया है। पाकिस्तनी DGMO ने फोन पर अपने नागरिकों और सैनिकों के हताहत होने का मुद्दा उठाया। जिसके जवाब में भारत ने कहा माछिल में पाकिस्तान की हरकत का जवाब था।

पाकिस्तान की हरकतों के जवाब में भारत की तरफ से की गई जवाबी कार्रवाई के बाद पाकिस्तान को भी ये एहसास हो गया कि इसबार उसे भारी नुकसान हुआ। जिसके बाद पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग बंद हो गई। बुधवार शाम 6 बजे के बाद किसी इलाके से फायरिंग की खबर नहीं आई है। भारतीय सेना ने मोर्टार और भारी हथियारों का इस्तेमाल कर पाकिस्तान को जवाब दिया। भारत की तरफ से पाकिस्तान के उन पोस्ट को निशाना बनाया गया जहां से आकंतियों को घुसपैठ कराने में मदद की जाती है।

Loading...

Leave a Reply