2G स्पेक्ट्रम घोटाले में तीनों केस में सभी आरोपी बरी, ए.राजा, कनिमोझी पाकसाफ

2G स्पेक्ट्रम घोटाले में तीनों केस में सभी आरोपी बरी, ए.राजा, कनिमोझी पाकसाफ

नई दिल्ली:  2G स्पेक्ट्रम घोटाले के सभी आरोपियो को बरी कर दिया गया है। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने ये फैसला सुनाया है। इस मामले में पूर्व टेलीकॉम मंत्री ए. राजा, पूर्व मंत्री कनिमोझी समेत कुल 17 आरोपी थे। लेकिन कोर्ट ने उन सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया है।

ये पूरा घोटाला 1 लाख 76 हजार करोड़ रुपये का था। अदालत ने फैसला सुनाते हुए कहा कि सीबीआई आरोपों को साबित करने में नाकाम रही। इसलिए सभी आरोपियों को बरी किया जा रहा है।

अदालत जिस वक्त फैसले सुना रहा था तब वहां पूर्व दूर संचार मंत्री ए राजा और कनिमोझी दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में मौजूद थे। इस घोटाले में राजा कनिमोझी समेत 17 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किये गए थे। इसमें 6 महीने से लेकर उम्र कैद तक की सजा होने की बात कही जा रही थी।

स्पेक्ट्रम घोटाले में ए राजा और कनिमोझी के अलावे एस्सार ग्रुप के प्रमोटर रविकांत रूइया और अंशुमन रुइया, लूट टेलीकॉम के प्रमोटर किरन खेतान, उनके पति आईपी खेतान और एस्सार समूह के निदेशक विकास सर्राफ भी आरोपी थे।

2G स्पेक्ट्रम घोटाले की सुनवाई आज से 6 साल पहले 2011 में शुरु हुई थी। जिसके बाद अदालत ने इस घोटाले में कुल 17 आरोपियों पर आरोप तय किये थे। इनपर आरोप है कि इन्होंने स्पेक्ट्रम के आवंटन में धांधली की जिससे सरकार को लाखों करोड़ के घाटे की बात कही जा रही थी। दूर संचार मंत्रालय की तरफ से 2G स्पेक्ट्रम का आवंटन पहले आओ पहले पाओ के आधार पर किया था। लेकिन कंपनियों को बाजार भाव से कम कीमत पर स्पेक्ट्रम के आवंटन का आरोप लगाया जा रहा था।

Loading...