दिल्ली में 2005 के सीरियल ब्लास्ट में कोई दोषी नहीं, 62 मौत का जिम्मेदार कोई नहीं?




नई दिल्ली: दिल्ली में 2005 में हुए सीरियल ब्लास्ट में कोई दोषी नहीं पाया गया। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने इस मामले में फैसला सुनाते हुए दो आरोपी को बरी कर दिया। जबकि एक और आरोपी तारिक अहमद डार की सजा पूरी मान ली गई। 29 अक्टूबर 2005 को दिल्ली में तीन जगह ब्लास्ट हुआ था जिसमें 62 लोगों की मौत हुई थी।

इस मामले में तीन आरोपी बनाए गए थे। जिसमें से एक तारिक अहमद डार था। जो अन लॉफुल एक्टिविटी का दोषी पाया गया था। यानि उसे फंडिंग के लिए दोषी पाया गया था। जिसकी सजा 10 साल होती है। लेकिन डार 11 साल जेल में रह चुका है। इसलिए उसकी सजा पूरी मान ली गई। खास बात ये है कि डार को भी धमाके का दोषी नहीं माना गया था। जबकि बाकी दो आरोपियों मोहम्मद हुसैन फजली और रफीक शाह को बरी कर दिया गया।

Loading...

Leave a Reply