नोएडा से 10 Naxal गिरफ्तार, इनसास राइफल के साथ हथियारों का जखीरा बरामद

दिल्ली:  दिल्ली से सटे नोएडा से 10 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है। इन नक्सलियों के पास से हथियारों का जखीरा भी बरामद किया गया है। नोएडा के एक अपार्टमेंट से इन नक्सलियों की गिरफ्तारी हुई है। शुरुआती पूछताछ के बाद ATS का कहान है कि अपनी गतिविधि चलाने के लिए इन्हें पैसों की जरुरत थी। लेकिन बिहार और झारखंड से इनकी जरुरत पूरी नहीं हो पा रही थी। इसिलए इन्होंने दिल्ली-एनसीआर का रुख किया था।

ये Naxal अगले एक हफ्ते में दिल्ली एनसीआर में किसी बडे वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। यूपी ATS के मुताबिक ये Naxal दिल्ली-एनसीआर में बैंक डकैती, एटीएम लूट, फिरौती और सुपारी लेकर हत्या करने के लिए आए थे। इसके जरिये ये Naxal पैसा जुटाने की फिराक में थे। लेकिन उससे पहले ही इनसी भनक यूपी ATS को लग गई। और इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

ATS को इनके और साथियों की तलाश है। गिरफ्तार नक्सलियों में से एक Naxal 2012 से ही यहां रहता था। 9 नक्सलियों की गिरफ्तारी नोएडा के सेक्टर 49 के एक अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया गया है। जबकी एक Naxal की गिरफ्तारी चंदौली से हुई है। इनमें से जो Naxal 2012 से ही नोएडा में रहता था पुलिस को भी उसकी काफी दिनों से तलाश थी। उसका नाम प्रदीप कुमार सिंह है। जिन नक्सलियों की गिरफ्तारी हुई है उसमें एक बम बनाने का एक्सपर्ट भी शामिल है।

गिरफ्तार नक्सलियों में रंजीत पासवान भी है। जिसे इनका मुखिया माना जा रहा है। रंजती ने 2003 में बिहार में सक्रिय पीपुल्स वार ग्रुप ज्वाइन किया था। और रंजीत पीडब्लूजी का एरिया कमांडर भी रह चुका है। इसमें एक का नाम सुनील रविदास है। जो इन सभी नक्लियों का कमांडर था। उसकी गिरफ्तारी रविवार सुबह चंदौली से हुई है।

गिरफ्तार नक्सलियों के पास से इनसास राइफल भी बरामद हुई है। ATS का मानना है कि ये किसी से लूटी गई होगी। जिसके बारे में पता लगाया जा रहा है। इसके अलावे इनके पास से 500 कारतूस, एसएलआर की तीन मैगजीन, 6 पिस्टल, 45 जिलेटिन की छड़ें, 12 5 डेटोनेटर और 2 लैपटॉप बरामद किये गए हैं।

Loading...