स्वर्ण मंदिर में पीएम के लंगर बांटने के क्या हैं सियासी मायने?

अमृतसर:  हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन में शामिल होने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार देर शाम अमृतसर पहुंचे। पीएम मोदी अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के साथ अमृतसर के स्वर्ण मंदिर भी पहुंचे। पीएम अशरफ गनी को स्वर्ण मंदिर के दर्शन कराने ले गए थे। पीएम मोदी ने स्वर्ण मंदिर में अशरफ गनी के साथ गुरुद्वारे में मत्था टेका। इसके बाद पीएम मोदी ने स्वर्ण मंदिर का परिक्रमा किया।

स्वर्ण मंदिर में मत्था टेकने और परिक्रमा करने के बाद पीएम मोदी ने वहां आमलोगों के बीच जाकर लंगर भी बांटा। जानकारी के मुताबिक लंगर बांटना उनके कार्यक्रम में शामिल नहीं था। लेकिन जिस तरह से उन्होंने वहां लंगर बांटा उसे पंजाब विधानसभा चुनाव से जोड़कर भी देखा जा रहा है।

पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव है।उससे पहले पीएम मोदी ने स्वर्ण मंदिर में लंगर बांटकर विरोधियों के सामने एक नई चुनौती पेश कर दी है। पीएम के साथ अफगानिस्तान के राष्ट्रपति तो थे ही साथ ही पूरा बादल परिवार भी मौजूद था। पीएम के इस नए अंदाज और नए रुप को देखकर विरोधियों के माथे पर शिकन का उभर आना लाजिमी है।

Loading...