सर्वे में बड़ा खुलासा: 82% जनता नोटबंदी पर मोदी सरकार के साथ है

नई दिल्ली:  विपक्ष कह रहा है मोदी सरकार ने नोटबंदी पर जल्दबाजी में फैसला लिया और बगैर किसी तैयारी के इसे लागू कर दिया। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल कह रहे हैं मोदी सरकार का फैसला गरीब विरोधी है। यूपी के सीएम अखिलेश यादव कह रहे हैं बुरे वक्त में कालाधान से अर्थव्यवस्था को ताकत मिलती है। ममता बनर्जी नोटबंदी के खिलाफ राजनीतिक दलों को एकजुट करने की कोशिश कर रही हैं।

नोटबंदी पर हर तरफ से विरोध झेल रही मोदी सरकार के लिए एक खुशखबरी भी आई है। वो ये है कि देश की ज्यादातर जनता नोटबंदी के फैसले का समर्थन कर रही है। एक सर्वे में ये बात सामने आई है कि देश की 82 फीसदी जनता नोटबंदी पर मोदी सरकार के साथ है।

इनशॉर्ट्स और इप्सॉस यानि IPSOS के सर्वे में ये बात सामने आई है। जिसके मुताबिक 82 फीसदी जनता 500 और 1000 रुपये के नोट पर पाबंदी लगाने के पक्ष में है। उनका मानना है कि इस फैसले से कुछ दिनों की परेशानी जरुर हुई है लेकिन लंबे वक्त में इसका फायदा होगा। इसलिए जनता केंद्र सरकार के फैसले को सही मान रही है।

वहीं 84 फीसदी लोगों का मानना है कि सरकार कालेधन पर रोक लगाने के लिए गंभीर है। इनशॉर्ट्स और IPSOS का ये सर्वे 8 और 9 नवंबर को किया गया था। यानि मोदी सरकार के नोटबंदी के एलान के तुरंत बाद। ऐप बेस्ड इस सर्वे में 2,69,393 लोगों ने हिस्सा लिया था।

Loading...