#सपा संग्राम: 6 साल के लिए SP से निकाले गए मुलायम के भाई रामगोपाल यादव

#सपा संग्राम: 6 साल के लिए SP से निकाले गए मुलायम के भाई रामगोपाल यादव

लखनऊ:  क्रिया की प्रतिक्रिया इतनी जल्दी और इतनी तीव्र होगी इसका अंदाजा नहीं था किसी को। रविवार के दिन दोपहर में सीएम अखिलेश यादव ने अपने चाचा शिवपाल यादव समेत 4 मंत्रियों को कैबिनेट से बाहर कर दिया। बदले में रिटर्न गिफ्ट शिवपाल यादव ने भी अपने भतीजे अखिलेश के पते पर भेज दिया। शिवपाल ने अपने और मुलायम सिंह यादव के भाई प्रोफेसर रामगोपाल यादव को 6 साल के लिए समाजवादी पार्टी से निकाल दिया।

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने रामगोपाल यादव पर पार्टी विरोधी गतिविधि में शामिल होने का आरोप लगाया। शिवपाल के मुताबिक रामगोपाल उनके खिलाफ साजिश रच रहे हैं। शिवपाल ने रामगोपाल को पार्टी से बाहर निकालते हुए आरोप लगाते हुए कहा कि उनके बेटे और बहू घोटाले में फंसे हैं। उन्हें सीबीआई से बचाने के लिए रामगोपाल बीजेपी का साथ दे रहे हैं। शिवपाल यादव ने कहा कि ये बात सीएम को समझनी चाहिए थी लेकिन वो नहीं समझे।

रामगोपाल यादव हमेशा से पार्टी को कमजोर करने में जुटे रहे। शिवपाल यादव ने आगे कहा कि परिवार में फूट डाल रहे थे प्रोफेसर राम गोपाल यादव। अपनी बर्खास्तगी पर शिवपाल यादव ने कहा कि बर्खास्तगी की चिंता नहीं है, हम चुनाव में जाएंगे। पिछला चुनाव नेता जी के नाम पर लड़ा था। इसबार भी उनके नेतृत्व में चुनाव में जाएंगे और जीतेंगे। नेताजी ने मेहनत से पार्टी खड़ी की है। बहुत दिनों से पार्टी को कमजोर करने का षडयंत्र चल रहा था।

रामगोपाल यादव ने कार्यकर्ताओं के नाम चिट्टी लिखी थी। जिसमें उन्होंने अखिलेश विरोध खेमे को निशाना बनाया था। उन्होंने कहा था कि जहां अखिलेश हैं वहां विजय है। जाहिर है रामगोपाल की वो चिट्ठी भी पार्टी से उनको बाहर करने में एक भूमिका निभा गया।

Loading...

Leave a Reply