#सपा संग्राम: पहले अखिलेश के अंकल थे लेकिन अब बन गए दलाल!

लखनऊ:  ज्यादा पुरानी बात नहीं है। कुछ महीने ही बीते हैं जब एक निजी चैनल के कार्यक्रम में सीम अखिलेश ने अमर सिंह को अंकल कहकर संबोधित किया था। लेकिन अब जबकि समाजवादी पार्टी और मुलायम परिवार टूट के कगार पर पहुंच चुका है तो सीएम अखिलेश के वही अमर अंकल अब अमर दलाल हो चुके हैं।

शिवपाल यादव ने पार्टी में दरार डालने की कोशिश करनेवाले और अमर सिंह के करीबी चार लोगों को कैबिनेट से बाहर निकाला उसमें अमर सिंह की करीबी जया बच्चन भी शामिल हैं। जयाप्रदा अखिलेश यादव की कैबिनेट में तो नहीं थीं लेकिन जयाप्रदा यूपी फिल्म डेवलपमेंट काउंसिल में थीं, अखिलेश ने उन्हें भी हटा दिया है।

अखिलेश की ये कार्रवाई बताने के लिए काफी है कि अमर समर्थक बख्शे नहीं जाएंगे। शिवपाल को कैबिनेट से बहर करने से पहले अखिलेश ने विधायकों की जो बैठक बुलाई थी उसमें भी अखिलेश ने कहा था कि जो लोग भी अमर सिंह का समर्थन कर रहे हैं उन्हें नहीं छोड़ा जाएगा। अमर सिंह से अखिलेश खफा हैं ये बात तो तभी बाहर आ चुकी थी जब उन्होंने कहा था कि बाहरी लोग घर में गड़बड़ी फैला रहे हैं।

लेकिन अब इशारों की भाषा में बात करने का वक्त खत्म हो चुका है। अब बात प्रत्यक्ष तौर पर हो रही है। जिस अमर सिंह के लिए बाहरी व्यक्ति कहा जा रहा था अब उसी अमर सिंह को दलाल कहा जा रहा है। अखिलेश ने ये भी कहा कि अमर सिंह बीजेपी से मिले हुए हैं। और पार्टी को तोड़ना चाहते हैं।

अखिलेश के समर्थन में आजम खान भी आ गए हैं। उन्होंने बगैर अमर सिंह का नाम लिये कहा कि हम काफी दिनों से महसूस कर रहे थे कि एक शख्स से पार्टी का नुकसान होगा एक दिन। साथ ही आजम ने कहा ये मुख्यमंत्री का अधिकार है कि वो किसे कैबिनेट में रखे और किसे नहीं।

Loading...