संसद के दोनों सदनों में उना दलित पिटाई पर हंगामा

संसद के दोनों सदनों में गुजरात के उना में दलितों की पिटाई का मामला गूंजा। सदन की कार्यवाही शुरु होते ही विपक्ष की तरफ से जोरदार तरीके से उना मामले को उठाया गया। विपक्ष के हंगामे के बीच ही लोकसभा में प्रश्नकाल चलता रहा। सरकार का कहना था की जो भी मुद्दे उठाने हैं उसे शून्य काल में उठाया जाए। आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने इस मुद्दे पर चर्चा के लिए नोटिस दिया था।

यही हाल राज्यसभा का भी था। वहां भी विपक्ष ने उना में हुए दलित उत्पीड़न पर जोरदार हंगामा किया। हंगामे की वजह से राज्यसभा की कार्यवाही कुछ देर के लिए स्थगित करनी पड़ी।

दरअसल उना में तथाकथिक गौ रक्षादल के कुछ लोगों ने मरे हुए गाय का चमड़ा ला रहे दलित युवकों की बेरहमी से पिटाई कर दी। उन युवकों को गाड़ी से बांधकर पीटा गया। उनपर ये आरोप लगाए गए कि वो गाय के चमड़े की तस्करी करते हैं। जबकि कहा ये जा रहा है कि वो जिस गाय का चमड़ा ला रहे थे वो पहले ही मर चुकी थी। इसके बाद तीन दलित युवकों ने खुदकुशी की कोशिश भी की। जिसके बाद मामले ने और तूल पकड़ा।

इसपर सियासत भी शुरु हो गई है। आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल 22 जुलाई को उना जाएंगे। जबकि 21 जुलाई को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी उना में दलित परिवारों से मिलने जानेवाले हैं।

Loading...