शहाबुद्दीन पर संग्राम: RJD गठबंधन धर्म निभाए या बाहर जाए: कांग्रेस

पटना: शहाबुद्दीन को बेलगाम छोड़ देना और चुपचाप बैठकर तमाशा देखने पर कांग्रेस ने आरजेडी को सख्त चेतावनी दे दी है। बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष और नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि ‘गठबंधन में रहकर इस तरह की बयानबाजी सही नहीं। नीतीश कुमार बिहार के सीएम हैं। उनके नाम पर चुनाव लड़ा गया उनके खिलाफ बयान देकर अगर उनकी छवि खराब की जाएगी तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आरजेडी को अगर गठबंधन में रहने में दिक्कत है तो वो बाहर निकल जाए। महागठबंधन को कमजोर करने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी। नीतीश कुमार ही हमारे नेता हैं और वही बिहार के सीएम भी हैं। इसमें किसी को कोई शक नहीं होनी चाहिए। नीतीश कुमार के खिलाफ बयान देकर सरकार की साख गिराने की कोशिश न की जाए।‘

बाहुबली आरजेडी नेता शाहबुद्दीन ने रिहाई के बाद नीतीश कुमार को परिस्थितिवश सीएम कहा था। और आरजेडी के ही एक दूसरे नेता रघुवंश प्रसाद ने शहाबुद्दीन के बयान का समर्थन किया था। लेकिन इसपर आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की तरफ से चुप्पी साध ली गई थी। जिसके बाद ये सवाल उठाए जा रहे थे कि क्या शहाबुद्दीन की रिहाई के बाद बिहार का समीकरण भी बदलेगा। क्योंकि इसे आरजेडी की तरफ से गठबंधन से हटकर अपना कुनबा तैयार करने की कोशिश मानी जा रही थी। मंगलवार को बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष ने भी इसी पर आरजेडी को गठबंधन धर्म याद दिलाने के साथ साथ पार्टी को मर्यादा में रहने की नसीहत तक दे दी।

यानि जिस शहाबुद्दीन की रिहाई के बाद आरजेडी वेट एंट वाच की नीति अपनाने की सोच रही थी उसे महागठबंधन में शामिल कांग्रेस की तरफ से सख्त चेतावनी दी गई है। वहीं इस सारे विवाद के पीछे आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने सारा दोष मीडिया पर मढ़ दिया। लालू ने कहा गठबंधन में कोई दिक्कत नहीं है लेकिन मीडिया की वजह से विवाद खड़ा हो गया है।

-Mohammad Shahabuddin, Nitish Kumar, Lalu Prasad Yadav, RJD Party,

Loading...

Leave a Reply