पासपोर्ट, लाइसेंस, सरकारी परीक्षाओं पर पहले से ज्यादा फीस लगेगी!

नई दिल्ली:  अगर आप अपना पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की सोच रहे हैं तो जल्दी से इस काम को निपटा लीजिये। क्योंकी देरी करने पर आपको ज्यादा फीस चुकानी पड़ेगी। सरकार इन चीजों पर चार्ज बढ़ाने पर विचार कर रही है। जिन चीजों पर सरकार फीस बढ़ाने पर विचार कर रही है उनमें पासपोर्ट, लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन, यूपीएससी जैसी परीक्षाओं और सरकार की तरफ से दी जाने वाली कई सेवाओं पर पहले के मुकाबले ज्यादा फीस वसूलने की तैयारी है।

दरअसल वित्त मंत्रालय का मानना है कि मिनिस्ट्रीज और डिपार्टमेंट्स यूजर चार्ज बढ़ाकर मौजूदा प्रोजेक्ट पर खर्च को पूरा करें। जैसे यूपीएससी की परीक्षा के लिए अभी 100 रुपये लिये जाते हैं। जबकि इस परीक्षा के आयोजन का लागत पिछले वर्षों में काफी बढ़ चुका है। उसी तरह रेलवे के भी कुछ सर्विसेज पर सब्सिडी दी जाती है। एक अधिकारी के मुताबिक ऑटोनॉमस ऑर्गनाइजेशंस को आत्म-निर्भरता की तरफ बढ़ना चाहिए। सरकार कब तक सब्सिडी देती रहेगी।

पासपोर्ट के लिए फीस में आखिरी बार 2012 में वृद्धि की गई थी। जिसमें फीस 1000 से बढ़ाकर 1500 रुपये किया गया था। इस तरह के कई मामले हैं जहां लागत के मुकाबले फीस कम है। जिसपर सरकार को सब्सिडी देनी पड़ती है।

एक्सपेंडिचर मैनेजमेंट कमीशन की तरफ से दी गई रिपोर्ट में भी ये जिक्र किया गया था कि सर्विसेज की कॉस्ट रिकवर होनी चाहिए और इनपर सब्सिडी धीरे-धीरे कम होनी चाहिए। कमीशन के सुझाव को मंत्रालय के पास भेजा गया। जिसपर काम भी शुरु  हो चुका है। इसी के तहत केरोसीन और डीजल पर भी सब्सिडी कम करने की तैयारी है।

Loading...