पाकिस्तान जमीन से ताकेगा और भारत-अफगानिस्तान आसमान में व्यापार करेंगे !

अमृतसर:  अमृतसर में चल रहे हार्ट ऑफ एशिया में पाकिस्तान को करारी शिकस्त मिल सकती है। इस सम्मेलन में भारत और अफगानिस्तान व्यापार में पाकिस्तान के अड़ंगे का तोड़ निकाल सकते हैं। दोनों देशों के बीच व्यापार में पाकिस्तान शुरु से विलेन बनता रहा है। इसलिए अब दोनों देश वायुमार्ग से व्यापार करने पर विचार कर रहे हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी इस सम्मेलन से हटकर अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के साथ इस विषय पर बात कर सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी और अशरफ गनी के बीच हवाई रुट से व्यापार पर बातचीत हो सकती है। रविवार को दोनों देश इस विषय पर समझौते पर मुहर लगा सकते हैं।

दोनों देशों के बीच व्यापार में अफगानिस्तान ने तय किया है कि भारत के साथ उसका कारोबार अगले 5 साल में 10 अरब डॉलर का हो जाए। फिलहाल ये आंकड़ा 65 करोड़ डॉलर का ही है। भारत में अफगानिस्तान के राजदूत शैदा अब्दाली ने पाकिस्तान की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि हमारे देश को जमीनी सीमा में बंधा देश समझना बंद कर देना चाहिए। भारत-ईरान-अफगानिस्तान के बीच चाबहार  पोर्ट विकसित करने के लिए हुआ समझौता इसी दिशा में एक अहम कदम है।

खासबात ये है कि भारत-अफगानिस्तान के बीच व्यापार के लिए पाकिस्तान अपनी जमीन का इस्तेमाल नहीं करने देता। इसलिए अब दूसरे विकल्प के बारे में विचार किया जा रहा है।

Loading...

Leave a Reply