जिनिवा में परमाणु रिसर्च संगठन में शिव की मूर्ति के सामने ‘नरबलि’! VIDEO लीक

दिल्ली:  जिनिवा में यूरोपीय परमाणु अनुसंधान संगठन (CERN) की प्रयोगशाला से कथित नरबलि का विडियो सामने आने से पूरी दुनिया सकते में है। इस विडियो में CERN में शिव की विशालकाय मूर्ति के सामने नरबलि देते हुए दिखाया गया है। इस विडियो की सच्चाई का पता लगाने के लिए CERN की तरफ से कमेटी बनाई गई है। विडियो को परमाणु अनुसंधान संगठन के बेहद सुरक्षित क्षेत्र में रिकॉर्ड किया गया है। जहां हर किसी को आने जाने की इजाजत नहीं होती। हलांकी संगठन ने इस विडियो की पुष्टि करते हुए इसे काल्पनिक चित्रण करार दिया है।

जिनिवा के इस संगठन में 100 से अधिक देश सहयोग कर रहे हैं। भारत के वैज्ञानिक भी इस विडियो के सामने आने के बाद हैरान हैं। वीडियो में कथित मानवबलि भगवान शिव की विशाल प्रतिमा जो नटराज मुद्रा में है के सामने दी जा रही है। इसमें भगवान शिव तांडव कर रहे हैं। भारत सरकार ने जिनीवा स्थित CERN को एक दशक पहले पांच मीटर ऊंची मूर्ति भेंट की थी।

संभवत: मोबाइल फोन से रिकॉर्ड हुए इस विडियो में भगवान शिव की मूर्ति के आसपास तकरीबन 6 से 7 लोग रात के वक्त काले कपड़े में दिखाई दे रहे हैं। उसी बीच एक और व्यक्ति भी है जो महिला मालूम पड़ती है वो भी खड़ी है। शुरुआत में उसके शरीर पर भी काले कपड़े होते हैं लेकिन बाद में उसे वहां मौजूद एक शख्स उतार लेता है जिसके बाद वो महिला सफेद कपड़े में नजर आती है। फिर वो शिव की मूर्ति के सामने बनी बलि वाली जगह पर लेट जाती है। काले कपड़ों में मौजूद लोगों में से एक कटार बाहर निकालता है जिसके बाद वो महिला के करीब आता है और उसका गला काट देता है। जिस किसी ने भी इस विडियो को शूट किया वो इससे आगे का कुछ भी रिकॉर्ड नहीं कर सका। हो सकता है घबराहट की वजह से वो वहां से भाग गया हो।

इस वीडियो पर CERN के प्रवक्ता ने कहा ‘इस वीडियो के दृश्य काल्पनिक हैं। CERN में और इससे जुड़े आवास में दुनियाभर के वैज्ञानिक अपने काम के सिलसिले में आते हैं। CERN में 24 घंटे और 365 दिन अलग अलग शिफ्ट में काम होता है। यहां जिन लोगों को प्रवेश का अधिकार है वे कभी-कभी अपने हास्यबोध का परिचय देते हैं, इसबार भी ऐसा ही हुआ है। विडियो कार्यालय के एक भवन में बनाया गया है। इस तकनीकी और प्रयोग वाले जगह पर किसी के भी अनधिकृत प्रवेश को रोकने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं। CERN इस तरह के मजाक को माफ नहीं कर सकता। इस मामले की आंतरिक जांच चल  रही है।‘   

Loading...

Leave a Reply