खून का बदला खून, एक के बदले 10 सिर, शहीद मंदीप के भाई ने कहा

खून का बदला खून, एक के बदले 10 सिर, शहीद मंदीप के भाई ने कहा

नई दिल्ली: कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में आतंकियों और सेना के बीच जब मुठभेड़ चल रही थी तब पाकिस्तानी सेना आतंकियों को कवर फायर दे रही थी। पाकिस्तानी सेना आतंकियों को सरहद पार कराने के लिए लगातार कवर फायर कर रही थी। उसी कवर फायर की आड़ में आतंकी एलओसी के काफी करीब पहुंच गए।

लेकिन वहां तैनात सेना के जवानों ने आतंकियों के साथ डटकर मुकाबला किया और उनके मंसूबों को ध्वस्त कर उन्हें वापस पाकिस्तानी सरहद में बने अपने कैंप की तरफ भागने के लिए मजबूर कर दिया। लेकिन सेना और आतंकियों की इसी मुठभेड़ में भारतीय सेना का जवान मंदीप सिंह शहीद हो गया। पाकिस्तानी सेना के कवर फायर की आड़ में आतंकियों ने शहीद मंदीप के शव को क्षत-विक्षत कर दिया। इस मुठभेड़ में एक आतंकी भी मारा गया।

अब शहीद का परिवार इस खून का बदला खून से और एक सिर का बदला 10 सिर के लेने की मांग कर रहा है। शहीद मंदीप के भाई ने कहा अपने भाई की मौत का बदला लेने के लिए वो सेना में भर्ती होना चाहता है। और एक सिर के बदले 10 सिर काटना चाहता है।

मंदीप हरियाणा के कुरुक्षेत्र का रहनेवाला था। दो दिन पहले ही मंदीप ने अपने भाई से बात की थी। और दिवाली में घर भी जानेवाला था। घरवाले उस मंदीप का इंतजार कर रहे थे जिसे उन्होंने पिछली दफा खुशी खुशी देश की सेवा करने के लिए विदा किया था। मंदीप अपने घर तो गया लेकिन तिरंगे में लिपटे एक शरीर के रुप में। देश के लिए अपना फर्ज निभाते हुए मंदीप सिंह शहीद हो गया। लेकिन आतंकियों के नापाक कदम को भारतीय सरहद में टिकने नहीं दिया।

Loading...

Leave a Reply