कहानी ही नहीं हकीकत में भी कछुए से हारा खरगोश, देखिये VIDEO

दिल्ली:  बचपन में या बड़े होने के बाद, कहने का मतलब है कि हर इंसान अपनी जिंदगी में कछुए और खरगोश की कहानी जरुर सुनता है। कहानी में दो पात्र होते हैं एक कछुआ और दूसरा खरगोश। दोनों में शर्त इस बात की लगती है कि एक निश्चित दूरी तक का सफर कौन पहले तय करता है।

कछुए ने खरगोश की चुनौती स्वीकार कर ली। दोनों के बीच रेस शुरु हुई। खरगोश की एक छलांग कछुए के कई कदमों के बराबर होती थी। अपनी लंबी छलांग और तेज गति की वजह से खरगोश आश्वस्त था कि जीत उसी की होगी। इसलिए रेस शुरु होने के बाद कुछ ही देर में उसने आधा रास्ता पार कर लिया। लेकिन दूसरी तरफ कछुआ अपनी धीमी चाल के साथ चल रहा था।

जब खरगोश ने आधा रास्ता पार कर लिया था तब कछुआ काफी पीछे था। इसके बाद खरगोश ने सोचा अभी तो काफी वक्त है। वो जब चाहे इस रेस को जीत सकता है इसलिए थोड़ा आराम कर लिया जाए। लेकिन आराम करने में खरगोश की आंख लग गई और वो गहरी नींद में सो गया। लेकिन दूसरी तरफ कछुआ अपनी धीमी चाल के बावजूद लगातार चलता रहा। कछुए की चाल धीमी जरुर थी लेकिन वो निरंतर अपनी मंजिल की तरफ बढ़ रहा था। अंत में हुआ ये कि कछुए ने अपनी मंजिल पा ली और जब खरगोश की नींद खुली तो उसे पता चला कि रेस खत्म हो चुका है और कछुए ने रेस जीत ली।

ये तो थी कहानी। लेकिन अब हकीकत की बात करते हैं। जी हां हकीकत में खरगोश और कछुए के बीच हुए रेस में भी जीत कछुए की ही हुई। इससे जुड़ा एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया में खूब चर्चा में है। इस वीडियो को 10 अक्टूबर को यूट्यूब पर अपलोड किया गया है। हलांकि वीडियो से ये पता नहीं चल पा रहा है कि खरगोश और कछुए की ये रेस कहां हुई थी लेकिन इस रेस के नतीजे में हकीकत में भी जीत उसी की होती है जो निरंतर अपनी मंजिल की तरफ बढ़ता जाता है। फिर भले ही उसकी चाल धीमी थी।

Loading...