आ गया Baghdadi का The End, मोसुल में घुसी इराकी सेना

नई दिल्ली:  दुनिया का सबसे खतरनाक और बर्बर आतंकवादी अबु बकर अल Baghdadi का अंत करीब आ चुका है। इराकी सेना मोसुल की लड़ाई को निर्णायक मुकाम तक पहुंचाने के काफी करीब है। इसी मोसुल में वो खूंखार आतंकी भी छिपा है जिसे दुनिया Baghdadi के नाम से जानती है।

पिछले दो साल में ऐसा पहली बार हुआ है जब इराकी सेना मोसुल में घुसने में कामयाब हुई है। द इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक आईएस का स्वघोषित खलीफा मोसुल में ही छिपा है और आतंकी संगठन अब पराजय के करीब है। कुर्दिश सेना प्रमुख फाउद हुसैन ने बताया सरकार को कई सूत्रों से जानकारी मिली है कि Baghdadi वहीं है। यदि वह मारा जाता है तो इस्लामिक स्टेट का भी खात्मा हो जाएगा।

हुसैन ने बताया कि पिछले तकरीबन 8-9 महीनों से Baghdadi ने खुद को इसी इलाके तक सीमित कर रखा है। खलीफा काफी हद तक मोसुल के आईएस कमांडर पर निर्भर हो गया है। उसके कई बड़े चेहरे 2014 में ही मारे जा चुके हैं।

Baghdadi का खात्मा निश्चित तो है लेकिन इतना आसान भी नहीं है। क्योंकि मोसुल की लड़ाई लंबी भी खिंच सकती है। यदि Baghdadi मारा जाता है तो आईएस को बीच में ही नया खलीफा चुनना होगा। लेकिन अब उसके किसी उत्तराधिकारी के पास Baghdadi जैसी शक्ति नहीं है। Baghdadi ने 2014 में मोसुल पर कब्जा किया था। उसके बाद से Bagdadi ने दुनिया को अपनी क्रूरता से चकित कर दिया था।

कुर्दिश सेना प्रमुख फाउद हुसैन के मुताबिक Bagdadi मारा जाएगा और आईएस की हार होगी यह तो तय है लेकिन इसमें कितना समय लगेगा इसके बारे में कहा नहीं जा सकता। इस बयान की वजह ये है कि आईएस के आतंकियों ने मोसुल में अनगिनत सुरंगे बना रखी है। आईएस के आतंकियों ने एक कंक्रीट की दीवार भी बनाई है। जिसमें अनगिनत बम लगाए गए हैं। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि जब इराकी सेना इस दीवार पर बम के गोले बरसाएंगी तो दीवार में लगा बम फटने लगेगा।

Loading...

Leave a Reply